धरती पर माता-पिता को भगवान का रूप कहा जाता है, क्योंकि वो मां-बाप ही होते हैं, जो अपनी ख़ुशियों को कुर्बान कर अपने बच्चों की सारी ज़रूरतों को पूरा करते हैं. सच में इसमें भी कोई दोराय नहीं कि हमारे मम्मी-पापा से अधिक प्यार हमें कोई और नहीं कर सकता. एक ओर जहां हम मां-बाप कि कुर्बानियों की बात कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर एक पिता ऐसा भी है, जिसने अपनी ख़ुशियों के लिए अपने ही बेटे को बेच डाला.

मामला ओडिशा का है. ओडिशा के भद्रक ज़िले में रहने वाले, बलराम मुखी नामक व्यक्ति ने अपनी इच्छाओं के चलते महज़ 23 हज़ार रुपये में अपने 11 महीने के बच्चे को बेच डाला. इस पूरी वारदात में उसका साला भी शामिल था. वहीं पुलिस पूछताछ में बलराम ने कबूला कि उसने 11 महीने के बच्चे को बेच कर मिले पैसों से 2000 हज़ार का मोबाइल फ़ोन और 1500 रुपये की बेटी के लिए पयाल ले ली, बाकि बचे पैसे उसने शराब में ख़र्च कर डाले. बलराम की पत्नी ने बताया कि हमारा 10 साल एक बेटा और है.

भद्रक पुलिस अधीक्षक अनुप साहू ने बताया, 'बलराम एक सफ़ाई कर्मी है और उसकी कोई नियमित आय नहीं, उसे नशे की भी लत है.'

वहीं बलराम से उसका बच्चा खदीदने वाले शख़्स सोमनाथ भारती ने बताया, 'साल 2012 में उन्होंने अपने 24 साल के बेटे को खो दिया था, तभी से उनकी पत्नी की मानसिक स्थित ठीक नहीं रहती. अपनी पत्नी की हालत को देखते हुए, हमने एक बच्चा गोद लेने की सोची और इसी के चलते हमने बलराम के 11 महीने के बेटे को ख़रीद लिया.'

Source : timesofindia