बॉलीवुड फ़िल्मों में आपने पिता का एक ऐसा किरदार देखा होगा, जो हमेशा सच का साथ देता है और अपने बेटे की ग़लत हरकतों पर उसके ख़िलाफ़ खड़ा हुआ दिखाई देता है. ऐसा ही एक पिता हमें असल ज़िंदगी में छत्तीसगढ़ के सूरजपुर डिस्ट्रिक्ट में दिखाई दिया है, जो अपने बेटे को जेल भेजने की मांग पर अड़ा हुआ है.

ख़बरों के मुताबिक, भटगांव के रहने वाले शिवमंगल साई पिछले एक साल से एक कुत्ते को हर दिन खाना खिलाते थे और उसका ध्यान रखते थे. शिवमंगल का कहना है कि उनका झब्बू (कुत्ते का नाम) बहुत ही शांत किस्म का कुत्ता था, पर उनका बेटा न जाने क्यों उससे जलता था. एक दिन मौका देख कर उनके बेटे ने धारदार हथियार से उनके कुत्ते को मार डाला. इस हादसे के बारे में बताते हुए शिवमंगल की आंखों में आंसू भर आते हैं.

ये हादसा बुधवार शाम का है. इस बाबत शिवमंगल ने बेटे के ख़िलाफ़ थाने में शिकायत भी दर्ज कराई है, जिस पर जानवर के प्रति अत्याचार की धारा 429 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी सुभाष ठाकुर का कहना है कि 'ये कुत्ता लड़के की मां पर लगातार भौंक रहा था. कहीं वो मां को काट न ले इस डर से लड़के ने कुत्ते की हत्या कर दी. कई लोग इस बाबत लड़के का समर्थन भी कर रहे हैं.'

हालांकि पुलिस ने कुत्ते की हत्या के मामले में 28 वर्षीय संतधारी को गिरफ़्तार कर लिया है. शिवमंगल का कहना है कि 'झब्बू कुत्ता नहीं, बल्कि उनके बेटे की तरह था, जो उनके बगैर खाना भी नहीं खाता था.' रिपोर्ट लिखवाने के लिए शिवमंगल, झब्बू के मृत शरीर को 10 किलोमीटर दूर थाने तक भी गए थे.

Source: IndiaTimes