अपनी मेहनत और लगन के भरोसे पर इंसान कभी-कभी ऐसे भी काम करने की ठान लेता है, जो एक आम आदमी की नज़र में बिलकुल असंभव होता है. ऐसे ही एक मुश्किल दिखने वाले काम को चुनौती समझ कर, उसे पूरा करने के लिए समीर सिंह निकले थे और आखिर उन्होंने अपनी मंज़िल पा ही ली.

मंदसौर ज़िले के रहने वाले समीर सिंह ने बीते रविवार को मुंबई में इतिहास रच दिया. समीर दुनिया के इकलौते ऐसे शख़्स बन गए, जिन्होंने 100 दिन तक रोज़ 100 किलोमीटर की दौड़ लगाई और कुल 10 हज़ार किलोमीटर दौड़े. 42 साल के समीर ने 29 अप्रेल से दौड़ना शुरू किया था. बीच में एक दिन चोट लग जाने की वजह से वे सिर्फ़ 50 किलो मीटर ही दौड़ पाए, लेकिन उन्होंने इस दूरी को धीरे-धीरे पूरा कर लिया.

अपनी इस उपलब्धि के बारे में बात करते हुए समीर बताते हैं, 'कई बार लोगों ने मुझसे कहा कि शरीर की कुछ सीमाएं होती हैं. मेरे छात्रों ने भी मुझे शरीर को अधिक इस्तेमाल न करने की सलाह दी. लेकिन ग्रंथों के हिसाब से आपके के शरीर की कोई सीमा नहीं होती. अगर आप में अपने सपनों को साकार करने की क्षमता है, तो आपका शरीर उसी अनुसार ढल जाएगा.'

Image Source : gaonconnection

समीर आगे कहते हैं कि 'भगवान ने मुझे रास्ता दिखाया और मैं उस रास्ते पर चलता गया. हां, इस दौरान आपको थोड़ा धैर्य रखने की ज़रूरत होती है.'

उनकी इस दौड़ में फ़िल्म निर्माता वंदना भट्टी और विक्रम भट्टी ने भी हिस्सा लिया. इसके लिए सोशल मीडिया पर 'The Faith Runner' के नाम से कैंपेन भी शुरू की गई थी.

Source : hindustantimes