उत्तर प्रदेश के अमरोहा ज़िले से एक अजीब-ओ-गरीब घटना सामने आई है. दूल्हे के घरवालों ने अंतिम समय में इसलिए शादी तोड़ दी क्योंकि उन्हें दुल्हन का ज़्यादा WhatsApp चलाना पसंद नहीं आ रहा था.

Source: Businesstoday

'बुधवार को नवगांव सदत गांव में दुल्हन और उसके घरवाले बारात का इंतज़ार कर रहे थे. बहुत वक़्त बीत जाने के बाद भी जब बारात नहीं आई तो लड़की के घर वालों ने फ़ोन घुमाया. उधर से जवाब मिला कि वो इसलिए शादी से मना कर रहे हैं क्योंकि लड़की बहुत ज़्यादा WhatsApp इस्तेमाल करती है', पुलिस ने कहा.

लेकिन लड़की के घर वाले इसे मात्र एक बहाना बता रहे हैं. उनके अनुसार अंतिम समय में शादी तोड़ने की असल वजह दहेज है.

पुलिस ने आगे कहा कि दुल्हन के पिता उरोज़ मेंहदी ने दूल्हे के घरवालों के ऊपर 65 लाख दहेज मांगने का केस दर्ज किया है.

मेंहदी ने कहा कि उसने फकीरपुर गांव में अपनी बेटी की रिश्ता क़मर हैदर के बेटे से तय किया था. 'हमारे रिश्तेदार और दोस्त बारात का स्वागत करने के लिए इकट्ठा हो गए थे, जब वो लोग नहीं आए तब हमने उन्हें फ़ोन किया. जब किसी ने फ़ोन नहीं उठाया तब हमने दूल्हे के पिता को फ़ोन किया. उन्होंने फ़ोन पर ही शादी तोड़ने की बात कही' उन्होंने.

अमरोहा के पुलिस सुप्रिटेंडेंट विपिन ताड़ा ने कहा,'दूल्हे के घरवालों का कहना है कि 5 सितंबर को होने वाली शादी उन्होंने इसिलए शादी तोड़ी क्योंकि लड़की को बहुत ज़्यादा WhatsApp इस्तेमाल करने की आदत थी और शादी से पहले ही वो अपने देवरों को मैसेज करती थी.'

Source: hindustantimes

Feature Image Source:  bgr