मीडिल क्लास फ़ैमिली में जब भी कार खरीदने की बात चलती है, तो सबसे पहले ज़हन में मारुति सुज़ुकी ऑल्टो 800 का नाम ही आता है. दाम और क्वालिटी की वजह से ये कार हर किसी की पहली पसंद होती है. वहीं अगर आप भी ऑल्टो 800 खरीदने की तैयारी कर रहे हैं, तो आपके लिये बुरी ख़बर है. कंपनी 2019 में इस कार का प्रोडेक्शन बंद करने जा रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कंपनी 2019 के छठे महीने या फिर इसके तीसरे महीने बाद कार का उत्पाद बंद कर देगी. 2012 में मारूती ने इसका फेसलिफ़्ट वर्ज़न लॉन्च किया था, जिसके बाद लगातार कार की बिक्री बढ़ती जा रही थी. हांलाकि, कंपनी ने अपनी बेस्ट सेलिंग कार को 2020 में नए इंजन मानकों के साथ लॉन्च करने का फ़ैसला लिया है.

वहीं इस बारे में मारुति सुज़ुकी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट दीपक सावरकर का कहना है कि मारुति के उन पुराने मॉडलों का उत्पादन बंद कर दिया जाएगा, जो नये नॉर्म्स को फ़ॉलो नहीं करते. कुछ ऐसा ही जिप्सी और मारुती ओमनी के साथ भी है. इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि कंपनी के 60 प्रतिशत प्रॅाडक्ट ऐसे हैं, जो देश के न्यू व्हीकल सेफ़्टी असेसमेंट प्रोग्राम (BNVSAP) के मानक पर खरे उतरते हैं.

Source: Prathammotors

रिपोर्ट्स के अनुसार, वाहन कंपनियों के लिये पुराने मॉडल को नये इंजन मानक के हिसाब से दोबारा तैयार करना बेहद चैलेजिंग काम है. इसमें कार के डिज़ाइन से लेकर ABS फ़ीचर को जोड़ने तक, सभी कार्यों में पैसे और समय दोनों की बर्बादी होती है. 1983 में मारुति सुजुकी ने भारत में सबसे पहले मारुति 800 को लॉन्च कर, धमाल मचा दिया था और ये उस वक़्त की सबसे ज़्यादा बिकने वाली कार बन गई थी. इसके बाद 2012 में मार्केट में मारुति ऑल्टो के तौर पर मारुति 800 के फेसलिफ़्ट वर्ज़न आया. वहीं 2016 में अल्टो को एक नया रूप में पेश किया गया और अब 2019 में इसे बंद करने का निर्णय लिया गया.

क्यों दुखी हो गये न? वैसे हमें भी भारत की बेस्ट सेलिंग कार की बहुत याद आयेगी.