अपनी मेहनत और लगन के भरोसे पर इंसान कभी-कभी ऐसे भी काम करने की ठान लेता है, जो एक आम आदमी की नज़र में बिलकुल असंभव होता है. ऐसे ही एक मुश्किल दिखने वाले काम को चुनौती समझ कर, उसे पूरा करने के लिए समीर सिंह निकले थे और वो आज अपनी मंजिल के बेहद करीब हैं.

मध्य प्रदेश के मंदसौर ज़िले के रहने वाले 44 साल के समीर सिंह ने 100 दिन में 10 हज़ार किमी दौड़ने का लक्ष्य रखा है. समीर अब तक 87 दिन में 6371 किमी की दूरी तय कर चुके हैं. उम्मीद है कि उनकी ये दौड़ 6 अगस्त तक पूरी हो जाएगी. समीर हर दिन सुबह 4 बजे उठते हैं और रुटीन काम के बाद दौड़ना शुरू कर देते हैं.

Source: Ketto

समीर सिंह जब गांव में पढ़ाई कर रहे थे, उस दौरान उनके कॉलेज की बिल्डिंग गिर गई, जिसमें उनके पढ़ाई के सभी दस्तावेज नष्ट हो गए. इसके बाद समीर सिंह नौकरी की तलाश में मुम्बई चले आए, लेकिन डिग्री के अभाव में उन्हें कहीं अच्छी नौकरी नहीं मिली.

Source: Ketto

इसके बाद समीर Running Coach बन गए और ये Coaching ही उनकी रोजी-रोटी का ज़रिया बन गई. जब समीर की ज़िन्दगी की गाड़ी पटरी पर आ गई, तो उन्होंने कुछ अलग करने की ठानी. इसके बाद समीर ने 100 दिन में 10 हज़ार किमी दौड़ने का लक्ष्य रखा. समीर ने  29 अप्रैल से दौड़ना शुरू किया है.  

Source: Ketto

समीर की मेहनत और लगन से प्रभावित होकर फ़िल्म निर्माता वन्दना भट्टी और उनके भाई विक्रम भट्टी ने समीर के लिए फ़ेसबुक पर 'The Faith Runner' नाम से एक अभियान चलाया है. इस अभियान में लोग समीर सिंह को Cheer कर रहे हैं.

समीर सिंह की मेहनत अब रंग लाने वाली है. 10 हज़ार किमी की दूरी तय करते ही समीर अपना नाम रिकॉर्ड बुक में लिखवा लेगें और उनका ये रिकॉर्ड आने वाले समय में लोगों ऐसे मुश्किल काम करने की प्रेरणा देता रहेगा. हमारी शुभकामनाएं समीर के साथ हैं.