राखी बीत गई है. पर भाई-बहन का प्यार और तकरार तो पूरे साल होती रहती है. हिन्दुस्तान की कुछ बातें जो किसी को भी यहां आने पर मजबूर कर देंगी, वो हैं- यहां के लोग, खाना और यहां के अनगिनत त्यौहार.

अगर त्यौहार सरहदों से भी परे हो जाएं तो त्यौहारों का मज़ा कई गुना बढ़ जाता है. अच्छा लगता है जब लोग मज़हब के पैमानों से ऊपर उठकर दिल से कोई भी त्यौहार मनाते हैं. राखी भी एक ऐसा ही त्यौहार है. भाई-बहन के आपसी प्यार को दर्शाने वाला पवित्र त्यौहार, राखी. यूं तो हर त्यौहार का ही अपना अलग महत्त्व है, पर हर भाई और बहन को राखी का ख़ास इंतज़ार रहता है.

बहुत से लोगों के राखी भाई और राखी बहन होते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी एक राखी बहन है जो आज 22 सालों से उनको राखी भेज रही हैं. क़मर मोहसीन शेख़, जो एक पाकिस्तानी मूल की महिला हैं, बरसों से मोदी जी को राखी बांध रही हैं.

क़मर की शादी एक भारतीय से हुई और वे हिन्दुस्तान में ही रहती हैं. उनके अनुसार वे मोदी जी को तब से राखी बांध रही हैं जब वे आरएसएस के कार्यकर्ता थे.

ANI को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया,

'जब मैंने मोदी जी को पहली बार राखी बांधी थी, तब वे आरएसएस के कार्यकर्ता थे. अपनी मेहनत और लगन से आज वे देश के प्रधानमंत्री बने हैं.'

क़मर को लग रहा था कि इस साल वे अपने भाई को राखी नहीं बांध पाएंगी, पर मोदी जी ने राखी से 2 दिन पहले फ़ोन कर के Surprise दिया.

सच कहते हैं, दिलों के रिश्ते ख़ून के रिश्तों से ज़्यादा गहरे होते हैं.  

Source: Scoop Whoop