फरीदाबाद के एक सरकारी स्कूल में, बच्चों को मिड-डे मील के साथ मरा हुआ सांप परोसा गया. बच्चों को जो खिचड़ी परोसी गई थी, उसमें मरा हुआ सांप था. मरे हुए सांप को बच्चे मसाला समझ रहे थे.

राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल के कई बच्चों ने खाना खा लिया था. उसके बाद अचानक किसी ने खाने में सांप को देखा. एक बच्ची को उल्टियां होने लगी और कई अन्य बच्चों ने भी तबियत खराब होने की शिकायतें की.

स्कूल की प्रिंसिपल ब्रज बाला, ने बताया,

'जैसे ही हमने सांप जैसे जीव को खाने में देखा, हमने बच्चों को तुरंत खाना खाने से रोका. इस्कॉन के अधिकारियों के पास शिकायत भी दर्ज करवा दी गई है.'

जिन स्कूलों को वही खाना सप्लाई किया गया उन्हें भी जानकारी दे दी गई है.

सरकारी स्कूलों के खाने में ऐसी ख़बरें आए दिन आती रहती है. हैरानी तो इस बात पर होती है कि सरकार की नींद टूटती ही नहीं है. बच्चे बिना किसी ग़लती की सज़ा भुगतते हैं.

ज़िन्दगी इतनी सस्ती क्यों हो गई है, ये समझना मुश्किल है.

Source: NDTV