'बड़ा हमेशा बेहतर नहीं होता' और छोटे पैकेट में बड़ा धमाका हो सकता है. ये बात बिलकुल ठीक बैठती हैं जापानी आर्टिस्ट तत्सुया तनाका के लिए. तनाका घर की फ़ालतू पड़ी चीज़ों का इस्तेमाल करते हैं अपने मिनिएचर मॉडल्स के लिए.

तनाका 2011 से इन मॉडल्स को बना रहे हैं और इस प्रोजेक्ट को उन्होंने मिनिएचर कैलेंडर प्रोजेक्ट का नाम दिया है. उनकी फ़ैन फॉलोविंग बहुत तगड़ी है. ज़िन्दगी से इंस्पिरेशन लेते हुए उन्होंने कई डिज़ाइन बनाये हैं. कभी वो ब्रेड के टुकड़े का इस्तेमाल करते हैं, तो कभी एक हरी स्ट्रॉ से Bamboo की शाख बना लेते हैं. केले के छिलके, चिप्स का बेहतरीन यूज़ भी किया गया है.

1. इधर-उधर बिखरे सुरों को हटाता एक आदमी.

2. एक Key की मौत का शोक मनाते ये लोग और कब्रिस्तान बना कीबोर्ड.

3. किताबी स्विमिंग पूल बहुत चालाकी से बनाया गया है.

4. आपके लिए ये टूथब्रश बेकार होगा, इनके लिए तो Shower से कम नहीं.

5. चिप्स से थोड़ी गंदगी हटा लें.

6. 1. 2. 3 और लहसुन के रॉकेट का सफ़ल टेस्ट प्रक्षेपण.

7. पिस्तालैंड में स्वाद तलाश करते एस्ट्रोनॉट.

8. ऑल पिन का सही इस्तेमाल इसे कहते हैं.

9. स्टेपलर से बनी बिल्डिंग? सोचा न था.

10. ब्रॉकोली के बाग़ में दो प्रेमी.

11. अगर ये मुमकिन है, तो कुछ भी हो सकता है.

12. ख्याली पॉपकॉर्न पाक रहा है.

13. ब्रॉकोली इससे अच्छी कभी नहीं लगी.

14. बियर बोतल में लाइट्स तो हमेशा डाली हैं, लेकिन इस मास्टरपीस के बारे में कभी नहीं सोचा.

15. सुरों की दौड़ में कौन आगे, कौन पीछे?

16. बेहतरीन!

17. माइक्रो SD चिप का ऐसा इस्तेमाल, लाजवाब है.

18. Pen की ताकत सही में तलवार से ज़्यादा होती है.

19. ऐसी खेती तो सही में नहीं देखी.

20. पिच में जान तो है.

Source: Bored Panda