गुजरात में गुमशुदगी का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां एक परिवार का बेटा जब लापता हुआ, तो लड़का था, पर जब वापस मिला, तो लड़की बन चुका था.

बेटा मिला और सदमा भी

गुजरात के अहमदाबाद के प्रतिष्ठित जौहरी परिवार का बेटा एक सप्ताह से लापता था. माधवपुरा में इस परिवार की सुनार की दुकान है. वहीं से लौटने के दौरान उनका बेटा रास्ते से लापता हो गया था. पुलिस ने बताया कि उनके बेटे का पता चल चुका है. ये सुन कर सभी ख़ुशी से उछल पड़े, लेकिन जब उन्हें ये बताया गया कि उनका बेटा अब बेटा नहीं रहा, बल्कि बेटी बन गया है, तो उनके होश उड़ गए.

Source: Blackwell

घरवालों ने सेक्स-चेंज कराने की नहीं दी थी इजाज़त

श्याम (बदला हुआ नाम) सेक्स चेंज सर्जरी करवाने के लिए गायब हो गया था. इस ख़बर को सुनने के बाद से श्याम के माता-पिता और उसकी छोटी बहन सदमे में हैं. श्याम ग्रेजुएट है और परिवार के बिज़नेस में हाथ बंटाता है. कुछ साल पहले उसे इस बात का ऐहसास हुआ कि वह एक औरत है, जो आदमी के शरीर में कैद है. श्याम ने अपने परिवारवालों को मनाने की बहुत कोशिश की कि वह उसे सेक्स चेंज ऑपरेशन करवाने की इजाज़त दें, लेकिन उन्होंने श्याम की बात नहीं मानी. उस दिन के बाद से उसने इस बारे में घर पर कभी बात नहीं की.

फ़ोन ट्रेस कर पुलिस ने लगाया पता

परिवारवालों को लगने लगा कि अब सब ठीक हो गया है, लेकिन पिछले सप्ताह श्याम लापता हो गया. पुलिस ने उसके फ़ोन को ट्रेस किया, तो नवरंगपुरा में उसकी लोकेशन पता चली. पुलिसवालों ने देखा कि एक निजी अस्पताल के बाहर श्याम की मोटरसाइकल लगी हुई थी. पता चला कि श्याम उस अस्पताल में सेक्स चेंज ऑपरेशन करवाने गया था. उसने बयान दिया कि उसने ये सब अपनी मर्ज़ी से किया है. पुलिस ने परिवारवालों को इस बारे में सूचित कर के केस को बंद कर दिया.

Source: Nocookie

पहले से कर रहा था ऑपरेशन की तैयारी

श्याम लंबे समय से इस ऑपरेशन की तैयारी कर रहा था. उसने ऑपरेशन से करीब डेढ़ साल पहले हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी भी ली थी. ख़बर मिलते ही परिवारवाले तुरंत अस्पताल पहुंचे, लेकिन श्याम ने उन लोगों से मिलने से इनकार कर दिया. पुलिसवालों ने भी 25 साल के श्याम को समझाने की कोशिश की कि वो अपने परिवारवालों से बात करे, लेकिन वो अपनी बात पर अड़ा रहा और किसी से नहीं मिला.

क्या है Gender Dysphoria?

श्याम जिस स्थति से गुज़र रहा था, उसे Gender Dysphoria कहते हैं. जब इंसान अपने शरीर में असहज महसूस करने लगता है और ख़ुद को दूसरे जेंडर के ज़्यादा क़रीब महसूस करने लगता है, तो इस स्थिति को Gender Dysphoria कहा जाता है. इसके कारणों का ठीक से पता नहीं चल सका है, लेकिन इसे लेकर कई थ्योरीज़ हैं. Hormonal Complications, आनुवांशिक असामान्यताएं, आदि की वजह से ये हो सकता है. 

Source: Indiatimes