बिहार सरकार से एक भारी मिस्टेक हो गयी है. मिस्टेक ये कि 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के जिस कैंपेन के तहत स्कूल में किताबें बांटी जा रही थी, उसमें जिस बच्ची की तस्वीर लगी, वो पाकिस्तानी है. फ़ोटो में ये बच्ची, अपने देश का झंडा बना रही है. फ़िलहाल बिहार के CM नितीश कुमार ने इस ग़लती को लेकर अधिकारियों से जवाब मांगा है.

Source: DNA

हुआ ये कि केंद्र सरकार सहित देश के बाक़ी राज्यों में 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' कैंपेन के तहत स्कूल्स में जो स्टडी मटीरियल दिया जाता है, ये उसमें छपी तस्वीर थी.

 घटना बिहार के जमुई ज़िले की है. ज़िले के DM से जवाब मांगने पर उनक कहना है कि उन्होंने ये काम रूरल डेवलपमेंट अथॉरिटी को सौंपा था. अथॉरिटी के अफ़सर लोगों ने ये ग़लती क़िताबों की छपाई करने वाले के सिर मढ़ दी, कि ये तस्वीर उनसे पूछे बिना छपी है.

इसकी जांच चल रही है, ग़लती किसकी है, ये भी सामने आ जाएगा.

Source: India Today

सरकारी काम में इस तरह के Blunder होते रहते हैं. कुछ दिनों पहले केंद्र सरकार के 'देश भर में बिजली पहुंचाने' के एक Print Ad में एक औरत की तस्वीर दो बार लागा दी गई और ये Ad लगभग हर जगह छाप दिया गया.

वैसे, Ad में ज़्यादातर लोग बिना परमिशन के ही फ़ोटोज़ इस्तेमाल करते हैं. इस बार ग़लती बड़े लेवल पर थी, इसलिए पकड़ी गई. 

Source: ToI