इन्दर बजवा मॉडलिंग इंडस्ट्री का एक जाना-माना नाम है. इसके बावजूद, वो मुंबई छोड़ कर पंजाब में अपने गांव लौट आये हैं. इसकी वजह ये थी कि इन्दर तो मुंबई में नयी ऊंचाइयों को छू रहे थे, लेकिन उसके गांव के जवान लोग नशे की लत में डूबते जा रहे थे.

2005 में वो दिल्ली आये थे, तब उनकी उम्र 21 साल थी. बढ़ती प्रसिद्धि ने उन्हें जल्द ही मुंबई पहुंचा दिया. उन्होंने मिस्टर वर्ल्ड प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और फ़ैशन इंडस्ट्री में छा गए. लोग उन्हें Raymond के मॉडल के रूप में भी जानते हैं. इसके अलावा, वो पंजाबी फ़िल्म 'साड्डे सी.एम. साब' में भी काम कर चुके हैं.

दुर्भाग्यवश उन्होंने अपने 17 वर्षीय कज़िन को ड्रग्स की लत के कारण खो दिया. इस घटना ने उन्हें हिला कर रख दिया. 2014 में वो अपने गांव लौट आये और इस लत से गांव को छुटकारा दिलाने की ठानी.

पंजाब में नशे की लत से होने वाले आंकड़े भयावह हैं. हर घर में एक जवान व्यक्ति की नशे के कारण मौत हो रही है. नेता इस पर बात कर के वोट लेते हैं पर इसका समाधान नहीं किया जा रहा.

बजवा के गांव की कबड्डी टीम कई प्रतियोगिताएं जीत चुकी थी, लेकिन नशे के कारण युवकों की इसमें रुचि ख़त्म होने लगी. बजवा मुंबई में बैठे ये सब होते नहीं देख पाए और लौट आये. उन्होंने एक अच्छी कबड्डी टीम बनाने का निश्चय किया और तबसे इसके लिए काम कर रहे हैं.

उन्होंने कबड्डी ग्राउंड की मरम्मत करायी और वहां प्रैक्टिस दोबारा शुरू करायी. उन्होंने अपने दिल्ली और मुंबई के दोस्तों की मदद भी ली, ताकि गांव में एक अच्छा Gym खोला जा सके.

गांव में वो एक बेहद अलग ज़िन्दगी जी रहे हैं. उनके बड़े-बड़े डिज़ाइनर्स से संपर्क थे, लेकिन अब वो ये सब छोड़ कर अपनी मिट्टी की सेवा करने में जुट गए हैं. वो सुबह 4:30 बजे जागते हैं और गांव के युवकों को ट्रेनिंग देते हैं. इसके बाद वो घर के काम-काज में अपनी मां का हाथ बंटाते हैं और शाम को भी कसरत करते हैं.

अब उन्हें नहीं पता कि उनका भविष्य कैसा होगा, लेकिन वो अपने मकसद के प्रति पूरी तरह समर्पित हैं.