हम घर से बाहर लड़कियों को सुरक्षित माहौल देने के लिए लड़ रहे हैं, पर आए दिन ऐसी घटनाएं सुनने को मिल रही हैं, जिनसे साबित हो रहा है कि बाहर तो क्या, लड़कियां घर में भी सुरक्षित नहीं हैं.

सोमवार को पश्चिमी दिल्ली में एक युवक को अपनी ही बहनों का नौ महीने तक रेप करने के लिए गिरफ्तार किया गया है. युवक ने अपनी दो बहनों का लगातार यौन शोषण किया, जिनमें से एक 17 साल की है और दूसरी 13 साल की. ये सब पिछले साल के अप्रैल से चल रहा था.

13 वर्षीय बहन ने अपनी एक दोस्त को अपनी आपबीती सुनाई. लड़की की दोस्त के पिता एक NGO के साथ काम करते हैं, उन्होंने तिलक नगर में इस घटना की रिपोर्ट की. DCP विजय कुमार ने बताया कि युवक के ख़िलाफ़ यौन शोषण का मामला दर्ज कर लिया है और उससे पूछ-ताछ की जा रही है.

लड़कियों ने बताया कि उनका भाई उन्हें घर से निकाल देने की धमकी दे कर, उनके साथ दुष्कर्म कर रहा था. युवक एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में कलेक्शन एजेंट के तौर पर काम करता है. उनके पिता की मौत दो साल पहले हो चुकी है युवक घर में अकेला कमाने वाला है. मां कैंसर की मरीज है, जिसे अपने बेटे के कुकर्मों के बारे में नहीं पता था.
मां ने बताया कि उनकी बेटियां अकसर भाई के साथ स्कूल या ट्यूशन जाने से मना किया करती थीं, पर उन्होंने कभी बताया नहीं कि वो उनके साथ क्या कर रहा है. उन्हें अकसर बेटियों को छोड़ कर इलाज के लिए अपने भाई के पास पंजाब जाना पड़ता था.

2016 में रिलीज़ किये गए दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, 2012 से 2015 के बीच हर दिन चार औरतों का रेप हुआ है और 9 के साथ छेड़-छाड़ की गयी है. ये आंकड़ें दिखाते हैं कि विकास के खोखले वादों के बीच, महिलाओं की सुरक्षा के मुद्दे को किस तरह नज़रंदाज़ किया गया है.

Source: Hindustantimes