चाहे पहले का दौर हो या आज की मॉर्डन सोसाइटी, महिलाएं अपने गर्भपात की बात खुलकर ऐसे सबके सामने नहीं कर पाती हैं. मगर आज महिलाओं के पास अपने डॉक्टर से बात करने की आज़ादी तो है, लेकिन पहले उनके पास न तो अपनों से बात करने की आज़ादी थी और न ही डॉक्टर से. इसलिए वो घर ही में अबॉर्शन के लिए ऐसे ख़तरनाक तरीके अपनाती थीं कि सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे.

Source: listland

1. योनी (Vagina) में जोंक (Leeches) डालकर

Source: myupchar

कुछ जगहों पर महिलाएं अपने प्राइवेट पार्ट के अन्दर जोंक (लिचेस) डाल लेती थीं. लोगों का मानना था कि ये कीड़े गर्भ में पल रहे भ्रूण (Fetus) को मार कर खा जाएंगे और इस तरह उनका अबॉर्शन हो जाएगा.

2. महिलाएं टाइट कपड़े पहनती थी

Source: indiatimes

कई महिलाएं गर्भपात के लिए टाइट कपड़े पहनती थीं. लॉजिक के मुताबिक, टाइट कपड़ों में गर्भ में पल रहा फ़ीटस बढ़ नहीं पाता और महिला का गर्भपात हो जाता था.

3. बॉडी में डालती थीं हैंगर या नीडल

Source: medium

कई महिलाएं अबॉर्शन के लिए अपनी बॉडी में हैंगर या बड़ी सुई डालती थीं. माना जाता था कि इस तरह की नुकीली चीज़ें गर्भ में मौजूद बच्चे को नुकसान पहुंचाकर गर्भपात करवा देती थी.

4. शॉक थैरेपी के द्वारा

Source: wikimedia

कई जगहों पर शॉक थैरेपी के जरिए गर्भपात करवाया जाता था. महिलाओं को बिना एनेस्थीसिया दिए उनके दांत उखाड़े जाते थे या प्रेग्नेंट महिला को कुत्तों से कटवाया जाता था. माना जाता था कि इस तरीके से महिला को सदमा लगता था और गर्भपात की संभावना बढ़ जाती थी.

5. खुद को सीढ़ियों से गिरा लेती थीं

Source: momjunction

कई महिलाएं अबॉर्शन के लिए ख़ुद को सीढ़ियों से नीचे गिरा लेती थी. माना जाता था कि इससे गर्भपात हो जाता था, वो भी बिना डॉक्टर्स के पास गए हुए.

6. कई दिनों तक भूखी रहती थीं

Source: theglobeandmail

महिलाएं गर्भपात के लिए कई दिनों तक भूखी रहती थीं. इससे जब गर्भ में पल रहे बच्चे को खाना नहीं मिलेगा, तो वो बढ़ेगा नहीं और गर्भपात हो जाएगा.

7. पेट पर करती थी कुल्हाड़ियों से वार

Source: dailymail

कई जगहों पर प्रेग्नेंट महिलाएं अपने पेट पर हथौड़े या कुल्हाड़ी से वार करती थीं, ताकि गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो जाए.

8. Enema Syringe और साबुन की मदद से

Source: fluter

कई महिलाएं Enema Syringe को साबुन की मदद से अपने शरीर में डालती थीं. इससे फ़ीटस डैमेज हो जाते थे और अबॉर्शन हो जाता था.

9. Whalebone or Turkey Feathers का इस्तेमाल करके

Source: scoopwhoop

Whalebone or Turkey Feathers के बॉडी के काफ़ी अंदर डालकर Uterus तक पहुंचाया जाता है. इससे फ़ीटस नहीं बन पाते हैं, और गर्भपात हो जाता है.

10. ख़तरनाक़ औज़ारों का करती हैं इस्तेमाल

आज अबॉर्शन कराना गैर-क़ानूनी है, तो ऐसे समय में महिलाएं बहुत ही ख़तरनाक औज़ार का इस्तेमाल करती हैं, जैसे- Urinary Catheters, Forceps and Speculum.

11. जंगली फल-फूल का जूस पीकर

Source: wikiwand

महिलाएं जंगली फल-फूलों का जूस बनाकर पीती हैं. इससे फ़ीटस मर जाते हैं और प्रेग्नेंसी नहीं रह जाती.

12. गर्म पानी से नहाकर

कुछ महिलाएं गर्म पानी से नहाती हैं, माना जाता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान योनी (Vagina) की झिल्ली खुली होती है, जिससे गर्म पानी शरीर के अंदर जाने से बनने वाला फ़ीटस मर जाता है. इससे भी अबॉर्शन हो जाता है.

13. इस शारीरिक मुद्रा से भी होता है गर्भपात

Source: leenansreedhar

ये एक तरीका है जिसे अबॉर्शन के लिए अपनाया जाता है. कहते हैं कि एक्सरसाइज़ की ये मुद्रा भी गर्भपात का कारण हो जाती है.

14. Gunpowder के इस्तेमाल से

गर्भपात के लिए Gunpowder का इस्तेमाल भी करती है. इसे निगलकर.

15. स्पेनी मक्खी द्वारा

Source: videoblocks

महिलाएं अबॉर्शन करने के लिए स्पेनी मक्खी के ज़हर से भी नहीं डरती हैं. वो उसे भी इस्तेमाल करती हैं, फ़ीटस को मारने के लिए.

Source: healthline

ये तरीके ख़तरनाक होने के साथ-साथ उन महिलाओं के शरीर के लिए हानिकारक भी थे, जो गर्भपात के लिए उन्हें अपनाती थीं. ऐसा करना तब भी ग़लत था और आज भी ग़लत है.

'मां बनना सौभाग्य की बात है, इसे दुर्भाग्य मत समझिए!'