कॉफ़ी एक ऐसा पेय पदार्थ है जो अधिकतर लोगों को पसंद होता है. ये ज़रूर है कि किसी को कॉफ़ी ज़्यादा पसंद होगी, तो किसी को कम. जो लोग कॉफ़ी के दीवाने होते हैं, वो बिना देखे सिर्फ पी कर ही बता देते हैं कि वो कॉफ़ी किस ब्रांड की है. अगर आप भी कॉफ़ी के दीवाने हैं, तो ये खबर आपके लिए ही है.

Source: pioneeralliance

क्या आपको पता है कि दुनिया की सबसे कैसे बनती है? नहीं पता तो हम बता देते हैं कि वर्ड की सबसे महंगी कॉफ़ी जो पूरी दुनिया में Kopi Luwak या Civet Coffee के नाम से मशहूर है, को बिल्ली की पॉटी से बनाया जाता है.

जी हां बिल्ली की पॉटी से! मगर इस कॉफ़ी का स्वाद जितना ज़ायकेदार होता है, उससे कहीं ज़्यादा इसकी कीमत होती है. Kopi Luwak को बनाने के लिए Asian Palm Civet (एक तरह की बिल्ली) का उपयोग किया जाता है. इसका प्रोसेस काफ़ी लंबा होता है, इसलिए इसकी कीमत भी आसमान छूती है.

Source: wpengine

इसको बनाने की प्रक्रिया के बारे में आप यहां पढ़ सकते हैं.

वैसे तो मुख्य रूप से इसका उत्पादन सुमात्रा के इंडोनेशियाई द्वीप पर किया जाता है, लेकिन अब भारत की एक कंपनी ने इस अनोखी कॉफ़ी का उत्पादन भारत में ही शुरू कर दिया है, तो अब आपको ये महंगी कॉफ़ी पीने के लिए विदेश जाने की ज़रूरत नहीं है. इस कॉफ़ी के एक कप की कीमत 11 हज़ार रुपए होती है.

Source: Scoopwhoop

भारत में ये कॉफ़ी 8000 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बिक रही है, जबकि खाड़ी देशों और यूरोपीय देशों में इसकी कीमत 20,000-25,000 रुपये प्रति किलोग्राम है.

भारत में, Coorg Consolidated Commodities (CCC) नामक एक स्टार्टअप ने कर्नाटक में Civet Coffee का उत्पादन शुरू कर दिया है. ये स्टार्टअप इस कॉफ़ी को 'Animane' नाम के ब्रांड के तहत के साथ बेच रहे हैं. इस कंपनी ने इसके लिए एक कैफे खोलने का निर्णय भी लिया है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, CCC कंपनी के संस्थापकों में से एक Narendra Hebbar ने कहा:

‘हमने शुरुआत में 20 किग्रा Civet Coffee का उत्पादन किया गया. ‘स्टार्टअप फ़र्म को स्थापित करने के बाद साल 2015-16 में 60 किग्रा कॉफ़ी का उत्पादन हुआ और पिछले साल हमने 200 किग्रा कॉफ़ी का उत्पादन किया था. इस साल अक्टूबर में होने वाली फसल की कटाई के बाद हम करीब आधा टन कॉफ़ी के उत्पादन की उम्मीद कर रहे हैं.'

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ‘'हम इसका उत्पादन प्राकृतिक तौर तरीके से करते हैं, जबकि बाकी देशों में Civet Cat को पकड़ कर रखा जाता है और उन्हें जबर्दस्ती कॉफ़ी बीन्स खिलाई जाती हैं.'

Source: occupyforanimals

CCC कंपनी का क्लब महिन्द्रा मेडिकेरी रिसॉर्ट में एकमात्र बिक्री केन्द्र है, जहां वो स्थानीय स्तर पर उत्पादित कॉफ़ी, मसालों और अन्य उत्पादों को बेचती है.

Source: hindustantimes