अभिनेत्री हो या फिर अभिनेता हर कोई अपने रोल को पर्दे पर दमदार दिखाने के लिए तमाम तरह के संघर्ष व परिश्रम करता है. उसे पता होता है कि मुझे किस रूप में कब और कैसे ढलना है. कुछ ऐसे भी कलाकार हैं, जिन्होंने सिर्फ़ फ़िल्मों में ही नहीं, बल्कि लोगों की यादों में अपने आपको बसाया. फ़िल्मों के कुछ ऐसे किरदार हैं, जिन्हें निभाने के लिए कलाकरों ने कड़ी मेहनत की.

आज हम आपको कुछ ऐसे ही कलाकारों के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने फ़िल्म में अपने किरदार को ज़िन्दा करने के लिए जी-तोड़ मेहनत की.

1. आलिया भट्ट और विद्या वालन 

Source: Indianexpress
Source: Manorama online

आलिया भट्ट ने 'उड़ता पंजाब' और विद्या बालन ने 'कहानी 2' में अपने किरदार को असली दिखाने के लिए लगभग 20 दिनों तक अपने बालों को नहीं धोया था.

2. रणवीर सिंह

Source: industantimes
Source: ollywoodbubble

शायद आपने रणवीर सिंह और सोनाक्षी सिन्हा की फ़िल्म ‘लूटेरा’ तो देखी ही होगी? अलग-अलग तरह के Emotions को दिखाने के लिए रणवीर ने अपनी स्किन के साथ कई तरह के Experiment किये थे. इतना ही नहीं उन्होंने ‘बाजीराव मस्तानी’ के लिए भी फ़िटनेस पर काफ़ी मेहनत की थी.

3. ऋतिक रोशन 

Source: logspot

अभिनेता ऋतिक रोशन ने फ़िल्म ‘गुज़ारिश’ में एक Paralysed Ex-Magician का रोल अदा किया था, जिसमें उन्हें ये दिखाना था कि एक Ex-Magician 14 साल तक Wheelchair पर ही रहता है. इस किरदार को निभाने के लिए ऋतिक कई घंटे Wheelchair पर सिर्फ़ इसलिए बैठा करते थे, ताकि वो महसूस कर सकें कि बिना पैरों के कैसा लगता है.

4. सैफ़ अली खान

Source: ewsstate

ऐसा ही एक बार ख़बरों में आया था कि बॉलीवुड के नवाब सैफ़ अली खान ने भी विशाल भारद्वाज की डायरेक्ट की हुई फ़िल्म ‘ओमकारा’ में लंगड़ा त्यागी के किरदार को निभाने के लिए 15 दिनों तक ब्रश तक नहीं किया था.

5. आमिर खान

Source: dtv

बॉलीवुड के Mr Perfectionist आमिर खान ने भी अपनी फ़िल्म ‘PK’ में ख़ूबसूरती से एक भोजपुरी व्यक्ति का किरदार निभाया था. इसे निभाने के लिए वो हर दिन लगभग 100 पान खाते थे और अपने आपको भोजपुरिया स्टाइल में ढालने के लिए उन्होंने लगभग दो साल तक काम किया.

6. राज कुमार राव

Source: haskar

National Award विजेता राजकुमार राव, मोहित सूरी की फ़िल्म ‘हमारी अधूरी कहानी’ में अपने किरदार को गरीब और दयनीय दिखाने के लिए करीब एक महीने तक नहीं नहाये थे.