अपनी मेहनत और लगन के कारण मुंबई पुलिस का एक कांस्टेबल लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. ख़बरों के मुताबिक, बीते सोमवार मुंबई में भारी बारिश के कारण लोगों को कई मुसीबतों का सामना करना पड़ा. तेज़ बारिश की वजह से शहर में जगह-जगह ट्रैफ़िक जाम लग गया, इसके साथ ही लोगों को आवाजाही में भी दिक्कत हो रही थी.

वहीं मूसलाधार बारिश में 47 वर्षीय ट्रैफ़िक कॉन्स्टेबल नंदकुमार इंगले ने अपनी जान की परवाह किए बिना ड्यूटी निभाई और करीब ढाई घंटे तक वो ट्रैफ़िक कंट्रोल करते रहे. यही नहीं, इस दौरान न तो उन्होंने कोई छाता लिया हुआ था और न ही रेनकोट पहना हुआ था. ठंडी हवा और तेज़ बारिश में घंटों सड़क पर खड़े रह कर ट्रैफ़िक मैनेज करना कितना मुश्किल रहा होगा, इसकी कल्पना कर पाना भी मुश्किल है.

Source : Indiatimes

इंगले अकुर्ली रोड पर ड्यूटी कर रहे थे, तभी शहर में अचानक तेज़ बारिश के साथ आंधी-तूफ़ान आने लगा. इतना ही नहीं, रोड पर रखे बैरिकेड्स उड़ कर दूर जा गिरे, लेकिन इंग्ले ने अपने कर्तव्य को समझा और अपनी ड्यूटी करते रहे. इस दौरान इंगले के साथ एक ट्रैफ़िक वॉर्डन भी मौजूद था. एक रहागीर ने इंगले को इस तरह से अपना काम करते देख उनका वीडियो बना लिया और उसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया, जिससे हर तरफ़ उनकी जम कर तारीफ़ हो रही है.

Source : Indiatimes

मीडिया को दिए गए इंटरव्यू में इंगले ने बताया, 'अचानक आई तेज़ बारिश में रेनकोट पहनने का समय नहीं था. मैंने अपना फ़ोन और पर्स वॉर्डन को दे दिया था. अकुर्ली रोड पर अकसर ज़्यादा ट्रैफ़िक रहता है. इसीलिए अगर मैं अपनी जगह से हट जाता, तो ऐसे में भयंकर जाम लग सकता था.'

इसके आगे बताते उन्होंने कहा कि इस दौरान बड़ा पेड़ भी गिर गया, जिससे और जाम होने लगा. मेरे सहयोगी प्रदीप भिलाए मेरी मदद के लिए आगे आए और हम लोग देर रात 11.30 तक रोड पर रुके और ट्रैफ़िक को मैनेज किया.'

इंगले को इस बात का अंदाज़ा नहीं था कि उनकी इस शिद्दत की वजह से उन्हें लोगों की इतनी तारीफ़ें मिलेंगी. वो फ़ेसबुक पर भी नहीं है, वहीं अगले दिन जब वो अपने काम पर वापस लौटे, तो एक शख़्स ने उन्हें उनकी वायरल वीडियो क्लिप के बारे में जानकारी दी.

सच में नंदकुमार इंगले जी ने तो दिल ही जीत लिया.

Source : Mid-day