रांची की राफ़िया नाज़ नामक मुस्लिम महिला के ख़िलाफ़ फ़तवा जारी कर, उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है. महिला का कसूर इतना है कि वो एक योगा टीचर है और बीते शुक्रवार को उसने योग गुरु बाबा रामदेव के साथ मंच साझा किया. अपने ख़िलाफ़ उठती आवाज़ों से वाकिफ़ होने के बावजूद वो रूकी नहीं, डरी नहीं. Times Now से बातचीत के दौरान नाज़ ने कहा, 'मुझे काफ़ी वक़्त से धमकाया जा रहा है, परेशान किया जा रहा है.'

Image Source : patrika
बिगड़ते हालातों को देखते हुए, राज्य सरकार की तरफ़ से नाज़ को सुरक्षा प्रदान की गई है. इस बारे में बात करते हुए वो कहती हैं, 'वो मेरे अधिकारों को नहीं छीन सकते हैं. मैं सुरक्षा के लिए राज्य सरकार का धन्यवाद करती हूं.' नाज़ बताती हैं कि उन्होंने इस क्षेत्र में कई पुरस्कार हासिल किए हैं, साथ ही योग के ज़रिए ही वो कुछ रुपये कमा पाती हैं.
Image Source : newsstate

नाज़ के मुताबिक, परिवार और समुदाय के लोग उसके साथ हैं, लेकिन उसके ख़िलाफ़ बोल रहे लोगों को वो अपना दृष्टिकोण समझाने में विफ़ल रही. अपने विरोधियों को कड़ा जवाब देते हुए इस मुस्लिम महिला ने लोगों से सवाल किया कि 'जब कोई व्यक्ति मेडिकल स्टोर पर दवा खरीदने जाता है, तो क्या वो ये जानने की कोशिश करता है कि ये दवा हिंदू ने बनाई है या मुस्लिम ने'?

Image Source : zeenews

प्रधान सचिव के आदेश के बाद, पुलिस द्वारा नाज़ को कड़ी सुरक्षा मुहैया कराई गई है, साथ ही मामले की जांच भी जारी है.

Source : timesnownews