तेलंगाना में फ़िल्मों ने एक 'प्रेमी-जोड़े' को इस कदर प्रभावित कर दिया की पत्नी, स्वाथि और प्रेमी,राजेश ने मिलकर पति, सुधाकर की हत्या की फिर जंगल में ले जाकर उसकी लाश जला दी.

ये दोनों यहीं नहीं रुके. पत्नी ने प्रेमी के चेहरे को एसिड से जलाया और फिर अपने पति के घरवालों को फ़ोन किया कि उनके बेटे के साथ एक दुर्घटना घटी है.

स्वाति और सुधाकर-

27 वर्षीय स्वाति नागरकुरनूल के एक अस्पताल में नर्स थी और सुधाकर के साथ उसके 2 बच्चे भी थे.

राजेश और स्वाति ने राजेश को सुधाकर का चेहरा दिलवाने की प्लैनिंग की थी. राजेश, सुधाकर का चेहरा पाकर सुधाकर की ही ज़िन्दगी जीने लगा.

स्वाति का प्रेमी राजेश-

सब ठीक चल रहा था लेकिन राजेश की हरकतों से सुधाकर के घरवालों को शक़ हुआ कि दाल में कुछ काला है. क्योंकि राजेश ने Mutton Soup पीने से मना कर दिया और कहा कि वो शाकाहारी है, जबकि सुधाकर मांसाहारी था.

इसके बाद सुधाकर के घर वालों ने राजेश पर कड़ी नज़र रखी और पाया कि जिसे वो सुधाकर समझ रहे थे उसके स्वभाव में भी बहुत परिवर्तन है.

इसके बाद घरवालों ने पुलिस को सूचना दी. स्वाथि से जब पुलिस ने पूछताछ कि तो स्वाथि ने सब कुछ बता दिया.

कहानी बिल्कुल फ़िल्मी है. हो सकता है भविष्य में इस पूरी घटना पर कोई फ़िल्म भी बन जाए.

Source- Scoop Whoop