अगर आपसे पूछा जाए कि 21 साल की उम्र में आप कहां थे, और क्या कर रहे थे तो, आपमें से ज़्यादातर लोगों का जवाब होगा, दोस्तों के साथ कॉलेज लाइफ़ एन्जॉय कर रहे थे. लेकिन एक लड़के ने 21 साल की उम्र में अपना नाम गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करा लिया है. मगर ये सब उन्होंने कोई हैरतअंगेज़ कारनामा करके नहीं, बल्कि पीएचडी करके किया है.

जी हां, नागपुर के निखिल चंदवानी ने 21 की उम्र में बिजनेस कम्युनिकेशन में पीएचडी पूरी कर ली है.

Source: b'Soucre: youtube'

ANI से बात करते हुए निखिल ने बताया कि उसने ऐसा कुछ सोचा नहीं था कि वो पीएचडी पास करेगा और उसके लिए कोई योजना भी नहीं बनाई थी. इतना ही नहीं उसने ये भी बताया कि वो इंजीनियरिंग में सफ़लता हासिल कर पा रहा था. इसके बाद उसने लिखने के बारे में सोचा और उसके लिए पीएचडी के रास्ते खुल गए.

Source: b'Soucre: youtube'

निखिल के बारे में ऐसा भी कहा जा रहा है कि उस को इस साल के पदमश्री अवॉर्ड के लिए भी नामंकित किया जा सकता है. मगर निखिल का कहना है कि उसका लक्ष्य राइटिंग और पेंटिंग्स की फ़ील्ड में एक मिलियन लोगों को प्रशिक्षण देने का है.

निखिल का कहना है कि 'क्रिएटिविटी अकेलेपन और तनाव से बाहर आने में बहुत मददगार है.'