जेल के बारे में हमारे मन जो ख़याल होते हैं, वो काफ़ी विचलित करने वाले होते हैं. सही भी है क्योंकि जेलों की कहानियां ऐसी होती हैं, जो मन को सिहरा देती हैं. जेल से निकलने के बाद भी आदमियों से लोग बात करने में कतराते हैं. वहां रहने के दौरान कैदियों को कई परिस्थितियों को देखना पड़ता है. पर क्या आपको लगता है कि जेल में रहने वाला एक कैदी मुस्कुरा भी सकता है या जेल में रहना भी खुबसूरत एहसास हो सकता है? नहीं न, तो एक बार लखनऊ के नारी बंदी निकेतन में चले जाइये. ये जेल महिला कैदियों के लिए है और साथ ही इसमें उनके बच्चों को रखने की भी जगह है.

नीलम पिछले ग्यारह सालों से नारी बंदी निकेतन में रह रही हैं. वो कंप्यूटर स्किल्स में माहिर हैं और जेल के अंदर होने वाली होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों को आयोजित करती हैं. यहां रहने वाली महिलाओं ने जेल की बंजर ज़मीन को उपजाऊ बना दिया है और वहां कई तरह की सब्जियां भी उगाती हैं. यहां इतनी सफाई से खाना बनता है कि आप देख कर हैरान रह जाएंगे. खाने का स्वाद भी लाजवाब होता है. इनके बच्चों को भीतर स्कूल जैसा माहौल मिलता है.

आइये आपको दिखाते हैं इस जेल की कुछ ख़ुशनुमा तस्वीरें:

1.

2.

3.

4.

5.

6.

7.

फिर भी आज़ादी सबसे अनमोल है. अपनी रिहाई की आस इन्हें गेट पर खड़े होकर बाहर झांकने पर मजबूर कर देती है.

All Images Source: Sudharak Olwe

Source: BBC