किसी भी फ़ौजी को देखकर यही लगता है कि वो सख्त स्वभाव और अपने डिसिप्लिन का पक्का होगा। ऐसा इसलिए भी लगता है क्योंकि आर्मी या देश की आर्म्ड फ़ोर्सेज़ के ऑफ़िसर्स थोड़ा सीरियस ही रहते हैं. लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं होता. देश की सेवा में तत्पर इन जांबाज़ों की छवि हमारे जेहन में ऐसी ही बन गई है.

Source: clown.weebly

मगर हमारी इस सोच को तोड़ने का ज़िम्मा नेवी के एक पूर्व ऑफ़िसर प्रवीन तुलपुले ने लिया है, जो अपनी सफ़ेद वर्दी को एक तरफ़ रख कर उसमें रंग भर कर लोगों को हंसाने की कोशिश कर रहा है.

Source: clown.weebly

प्रवीन ने अपना प्रोफ़ेशन कुछ साल पहले उस समय छोड़ा, जब एक बच्ची कैंसर से हार कर मौत की नींद सो गई थी. तब से ले कर आज तक प्रवीन कैंसर हॉस्पिटल में जा कर बच्चों के चेहरे पर मुस्कान बिखेरने में लगे हुए हैं. इस काम के लिए वो मैजिक ट्रिक्स के साथ-साथ चुटकुलों का सहारा लेते हैं. साल 2000 में वो अपने 17 साल के करियर को छोड़ कर इस काम में जुटे थे.

Source: clown.weebly

उनके इस काम को उनके परिवार और नेवी में उनके साथियों ने भी खूब सराहा. वो अब तक करीब 4000 से भी ज़्यादा शो कर चुके हैं. बच्चों के बीच उन्हें 'हैप्पी अंकल' के नाम से पहचाना जाता है.

Source: clown.weebly