हफ़्ते भर की थकान मिटाने के लिए हम में से ज़्यादातर लोग पॉर्लर जाकर मसाज लेना उचित समझते हैं. इसमें कोई दो राय नहीं कि मसाज लेने के बाद शरीर को काफ़ी आराम मिलता है और हम पहले से ज़्यादा अच्छा महसूस करते हैं. पर क्या कभी आपने ये सोचा कि पल भर का सुकून आपको ज़िंदगी भर का दर्द दे सकता है, ऐसा दर्द कि आप जीते हुए भी ख़ुद का निर्जिव महसूस करेंगे.

मसाज लेकर चंद लम्हों का आराम कितना ख़तरनाक साबित हो सकता है, ये कोई यूपी के इस शख़्स से पूछे. अजय कुमार नामक ये व्यक्ति हफ़्ते में करीब 2 से 3 बार सलून जाते थे, मसाज के साथ-साथ अजय नेक क्रैक भी करवाते थे. इस दौरान 54 वर्षीय इस शख़्स ने सोचा भी नहीं होगा कि कुछ समय बाद यही आराम उनकी ज़िंदगी पर काफ़ी भारी पड़ने वाला है. दरअसल, मसाज के कारण उनकी गर्दन की दोनों नसें लकवा ग्रसित हो चुकी हैं, साथ ही अब वो ठीक से सांस भी नहीं ले पा रहे हैं. वहीं अजय कुमार की इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है, साथ ही उन्हें जिंदगी भर नॉन इनवेसिव वेंटिलेशन पर रह कर ही ज़िंदगी व्यतीत करनी होगी.

अजय कुमार का ट्रीटमेंट कर रहे मेदांता हॉस्पिटल के रेस्परेट्री ऐंड स्लीप मेडिसिन विभाग के डायरेक्टर डॉ आनंद जायसवाल ने बताया, 'एक महीने पहले अजय कुमार हमारे पास इलाज के लिए आए थे. इस दौरान उनके कई टेस्ट भी कराए गए, तब जाकर इस बात का पता चला कि गर्दन की मसाज करने से अजय के डायफ़्राम को नियंत्रित करने वाली फ़्रेनिका नस क्षतिग्रस्त हो गई, जिस काऱण उनकी गर्दन की नसें लकवा ग्रस्त हो गई हैं और उन्हें वेंटिलेशन पर रखा गया है.'

अगर आपको भी मसाज बहुत पसंद है, तो थोड़ा सावधान हो जाइए. 

Source : TOI

Representative Feature Image Source : ar