विज्ञान ने भले ही कितनी भी तरक्की कर ली हो, लेकिन आज भी कुछ ऐसे रहस्य मौजूद हैं, जिनके बारे में विज्ञान भी अंजान है. ऐसा ही एक रहस्य है 'बरमूडा ट्राइएंगल'. नॉर्थ अटलांटिक महासागर में स्थित इस ट्राइंगल को डेविल्स ट्राइंगल भी कहते हैं. बरमूडा ट्राइंगल के जल श्रेत्र में एक द्वीप उभरने से बरमूडा ट्राइएंगल का रहस्य और भी बढ़ने लगा है.

इस द्वीप को Shelly Island के नाम से पुकारा जा रहा है. कहा जा रहा है कि किनारे पर उपस्थित कूड़े के रूप में विशाल मात्रा में इकट्ठा हुए Shells के कारण इस द्वीप का निर्माण हुआ है. विशेषज्ञ इसे एक ख़तरे के रूप में देख रहे हैं.

इस क्षेत्र के उभरने से स्थानीय लोग और पर्यटन व्यवसायी काफ़ी खुश हैं. ये नया द्वीप एक मील लंबा और 400 फ़ीट चौड़ा है. जो North Carolina के Cape Point के बाहरी किनारे के पास स्थित है. North Carolina के Beach Buggy Association के अध्यक्ष का कहना है कि 'हम जानते हैं कि यहां ख़तरे बहुत सारे हैं, हो सकता है, ये किसी प्रकार का शिकारी जाल हो. यहां पानी का बहाव अत्यंत तेज़ है, जो मुख्य द्वीप को इस नए द्वीप से अलग करता है.'

यहां आई एक पर्यटक Janice Regan ने बताया कि जब वे अप्रैल में यहां आई थी, तो ये क्षेत्र एक छोटे उभार की तरह दिखाई दे रहा था. जिसने अब एक द्वीप का रूप ले लिया है. यहां के Superintendent, Dave Hallac ने लोगों को चेतावनी देते हुए कहा है कि इस क्षेत्र के आसपास न घूमें और न ही इस क्षेत्र को तैर कर पार करने की कोशिश करें.

ये द्वीप बरमूडा ट्राइएंगल के जल क्षेत्र में उभर कर आया है. बरमूडा ट्राइएंगल 440,000 मील समुद्री क्षेत्र को कवर करता है. ये क्षेत्र दुनिया का सबसे व्यस्त व्यापारिक समुद्री मार्ग है. यहां से जहाज़ अमेरिका, यूरोप और कैरेबियन बंदरगाह को जाते हैं. बरमूडा ट्राइएंगल में पिछले 100 सालों में दर्ज़नों हवाई और पानी जहाज़ खो चुके हैं, जिसके बाद उनका कभी कोई पता नहीं चल पाया.

Source - Unilad And The Sun