टीवी पर आपने कई न्यूज़ एंकर को कभी ख़ुशी की, तो कभी किसी दिल दहला देने वाली घटना की ख़बरों को पढ़ते सुना और देखा होगा. कई बार भूकंप या किसी ट्रेन हादसे या फिर बम ब्लास्ट की घटना की ख़बर पढ़ते हुए इन न्यूज़ एंकर्स की आवाज़ भी भर आती है. लेकिन एक न्यूज़ एंकर ने आज जो किया उसके लिए तो बड़े से बड़ा शब्द भी छोटा है. किसी महिला के लिए उसके पति की मौत की ख़बर कितनी दुखदायी होती है, इसकी कल्पना भी उसके लिए भयानक होती है. तो ज़रा सोचिये उस न्यूज़ एंकर पर उस समय क्या बीती होगी, जब उसने खुद अपने पति की मौत की ख़बर लाइव पढ़ी होगी.

Source: indianexpress

छत्तीसगढ़, रायपुर के एक प्राइवेट चैनल, IBC-24 की न्यूज़ एंकर सुप्रीत कौर के साथ ऐसा ही हादसा हुआ. हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, सुप्रीत कौर जब महासमुंद ज़िले के पिथौरा गांव में हुई एक सड़क दुर्घटना की न्यूज़ लाइव पढ़ रहीं थी, तभी इस हादसे में मरने वाले व्यक्तियों में सुप्रीत के पति हर्षद कवादे का नाम भी आया. लेकिन पति का नाम आने के बाद भी उन्होंने हिम्मत दिखाते हुए पूरी ख़बर पढ़ी.

गौरतलब है कि यह दुर्घटना तब हुई, जब महासमुंद के NH-353 पर लहरौद पड़ाव गांव के पास, पांच लोग रेनॉल्ट डस्टर कार से रायपुर लौट रहे थे. इस हादसे में तीन व्यक्तियों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. जबकि दो की हालत नाज़ुक है. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि जब सुप्रीत घटना स्थल से लाइव रिपोर्टर से हादसे की पूरी जानकारी ले रहीं थीं, तब उनको इस बात का शक़ तो हुआ कि इस एक्सीडेंट में उनके पति भी हो सकते हैं और बुलिटेन ख़त्म होते ही न्यूज़ रूम से बाहर आते ही उन्होंने इसकी जानकारी लेने के लिए घर पर और रिश्तेदारों को फ़ोन किया और वो रोने लगीं. लेकिन फिर भी उन्होंने ढांढस बांधे रखा और अपना काम पूरा किया.

यहां देखिये उस बुलिटेन का वीडियो:

Video courtesy: IBC-24

वहीं प्राइवेट चैनल IBC-24 के सीनियर एडिटर ने बताया, 'जब सुप्रीत न्यूज़ पढ़ रहीं थीं, तब ही स्टाफ़ को इस बात की जानकारी मिल गयी थी कि हादसे में मरने वालों में उनके पति का नाम भी शामिल है, लेकिन कोई उनको हिम्मत करके बता नहीं पाया.' सुप्रीत के एक साथी के अनुसार, 'वो बहुत ही बहादुर महिला हैं. उनके साथ काम करना हमारे लिए गर्व की बात है.'

Source: hindustantimes