पैंडमिक कहिए या 2020 में आ गई अक़्ल ठिकाने, देश और दुनिया के कई ब्रैंड अपना रवैया बदल रहे हैं. फ़ेयर ऐंड लवली ने अपना नाम ग्लो ऐंड लवली कर लिया.


स्कॉच ब्राइट ने बिंदी वाली महिला का लोगो बदलने की बात कही.

और कहीं न कहीं ये सब एक जागरूक कनज़्यूमर की वजह से ही हुआ. एक मशहूर ब्रैंड का लेटेस्ट ऐड प्रोग्रेसिव न होकर, सेक्सिज़्म से भरा मैसेज दे रहा है. 

Source: Business Insider

'World of Moms' टाइटल वाले इस डिशवॉशर के ऐड ने ट्विटर का ध्यान खींचा. इस ऐड में पुरुष और महिलाओं के काम को विभाजित दिखाया गया है और ये बात किसी को भी पसंद नहीं आई.


पत्रकार Faye DSouza ने ये विज्ञापन ट्विटर पर शेयर करते हुए सवाल किया, 'पुरुषों को डिशवॉशनर नहीं चाहिए?' 

फिर क्या था ट्विटर ने भी राय ठोकनी शुरू कर दी- 

अपनी सफ़ाई में कंपनी ने कहा, 'बतौर ब्रैंड हम अपने कैंपेन से महिलाओं को सेलिब्रेट करते हैं. इस ऐड में भी हमने बस फ़न और वीडियो कॉल पर आये कुछ दोस्तों की नॉर्मल बात-चीत दिखाई है. वीडियो में एक कैरेक्टर ने बताया कि कैसे सब घर का काम मैनेज कर रहे हैं, कैसे पति ने बरतन धोने की ज़िम्मेदारी ले ली है. इस पॉइंट पर फ़िल्म की नायिका डिशवॉशर के बारे में बताती है. सभी कस्टमर्स के कम्फ़र्ट को ध्यान में रखते हुए ही हमारे प्रोडक्ट्स बनाये जाते हैं.'

ऐसा पहली बार नहीं है. सालों से ब्रैंड्स, सेक्सिस्ट, रिग्रेसिव ऐड्स बनाते आये हैं. चाहे हेमा, रेखा, जया और सुषमा हो या कुछ और. वक़्त आ गया है कि टीवी पर आने वाले विज्ञापन में भी बदलाव आये.