कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के चलते देश में लगे लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों की मदद करके बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने ख़ूब सुर्ख़ियां बटोरीं. यहां तक कि उन्हें 'ग़रीबों का मसीहा' नाम तक दे दिया गया. सोनू आज भी ज़रूरतमंदों की मदद कर रहे हैं.  

Source: indiatimes

ये सोनू सूद के नेकदिली का ही नतीजा है कि हैदराबाद के शिवा ने सोनू से प्रेरित होकर 'सोनू सूद एम्बुलेंस सेवा' की शुरुआत की है. ये 'एम्बुलेंस सेवा' ग़रीबों और ज़रूरतमंदों के लिए फ़्री होगी. ये एम्बुलेंस सेवा की शुरुआत फिलहाल आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कुछ हिस्सों में की गयी है.  

Source: thenewsminute

कौन हैं शिवा? 

शिवा पेशे से एक तैराक हैं. वो पिछले कई सालों से लोगों को नई ज़िंदगी देने का नेक काम कर रहे हैं. शिवा अब तक हैदराबाद की 'हुसैन सागर झील' में डूब कर आत्महत्या का प्रयास करने वाले 100 से अधिक लोगों की जान बचा चुके हैं. 

Source: thenewsminute

सोनू सूद ने किया एंबुलेंस का उद्घाटन 

शिवा की इस नेक पहल से प्रभावित होकर सोनू सूद ख़ुद इस एम्बुलेंस सेवा का उद्घाटन करने हैदराबाद पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने शिवा के इस नेक प्रयास की ख़ूब सराहना भी की.

इस दौरान सोनू ने कहा, 'मुझे गर्व है कि मैं इस एम्बुलेंस का उद्घाटन करने आया हूं. शिवा को धन्यवाद. मैंने उनके बारे में बहुत सुना है कि वो लोगों की जान बचाने का काम कर रहे हैं. हमारे समाज को शिवा जैसे लोगों की ज़रूरत है ताकि सभी लोग आगे आकर दूसरों की सहायता कर सकें.' 

शिवा ने दान के पैसों से ख़रीदी एंबुलेंस 

शिवा के इस निस्वार्थ कार्य को देखते हुए लोगों ने उन्हें दान देना शुरू कर दिया. लोगों से मिले इसी दान के पैसों से एक एम्बुलेंस ख़रीदी है. इसके बाद उन्होंने इसे 'सोनू सूद एम्बुलेंस सेवा' के नाम पर ग़रीबों की मदद के लिए समर्पित कर दिया. 

Source: thenewsminute

शिवा ने कहा, 'देशभर से लोगों ने जब मुझे और मेरे परिवार को दान दिया तो मैंने उस राशि का इस्तेमाल एम्बुलेंस ख़रीदने के लिए किया. सोनू सूद के अच्छे काम से प्रेरित होकर मैंने एम्बुलेंस का नामकरण उनके नाम पर किया.'