आज ये आर्टिकल पढ़ने से पहले आप ये दो तस्वीरें देखिए:

 Fining People For Spitting
Source: toi
 Spit_from_chewing
Source: wikimedia

देख ली, इन्हें देखने के बाद मूड एकदम ख़राब हो गया होगा.

अब इस तीसरी तस्वीर को भी देख लीजिए:

Fine
Source: Reddit

पक्का 'दिल को करार आया' वाली फ़ीलिंग आई होगी. अरे भई जब किसी को आस-पास गंदगी फैलाने के लिए फ़ाइन यानी जुर्माना किया जाता है तो मन को शांति मिलती है और दूसरों को सबक भी.

पान मसाला खाने वाले लोगों को शायद ये बात पसंद न आए मगर क़ानून तो सबके लिए एक ही होता है जी. इसलिए अच्छा होगा कि आप भी उसका पालन करें और साफ़-सफ़ाई का ध्यान रखें.

spit
Source: bhaskar

अब बताते हैं आपको कि ख़बर क्या है. दरअसल, इंटरनेट पर एक चालान की फ़ोटो वायरल हो रही है. इसमें एक शख़्स को बेंगलुरु की सड़कों पर थूकने (Spitting) के लिए 500 रुपये का चालान किया गया है. देखते-देखते ये तस्वीर रेडिट (Reddit) पर वायरल हो गई.

ये भी पढ़ें: बेझिझक कहीं भी थूकने वालों, आपदा प्रबंधन क़ानून के तहत अब सार्वजनिक स्थानों पर थूकना अपराध होगा 

इसे देखने के बाद लोग अपने-अपने शहर के अंदर यही व्यवस्था जल्द से जल्द लागू करने की बात कह रहे हैं, ताकि शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाया जा सके. आप भी देखिए लोगों का क्या कहना है:

Spitting 

वैसे पब्लिक प्लेस में थूकने को लेकर कई बार देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों पर फ़ाइन लग चुका है, लेकिन लोग हैं कि सुधरते ही नहीं. पुणे में भी पहले ऐसा हो चुका है. वहां ज़ुर्माने के साथ लोगों से सफ़ाई करवाने का भी आदेश था.

बेंगलुरु के प्रशासन (BBMP) ने तो साल 2020 में ही सार्वजनिक जगहों पर थूकने या फिर उन्हें गंदा करते पाए जाने पर पहली दफ़ा 1000 रुपये और दूसरी बार 2000 रुपये का चालान करने का आदेश दिया था. 

Spitting in public
Source: indianexpress

हाली ही में जब गुटखा के विज्ञापन को लेकर सेलेब्स कॉन्ट्रोवर्सी में आए थे, तब एक आईएएस ऑफ़िसर अवनीश शरण ने भी कोलकाता के हावड़ा ब्रिज के पिलर्स पर गुटखे-पान के दाग दिखाए थे. उन्होंने बताया था कि इसकी वजह से इस 70 साल पुराने ऐतिहासिक ब्रिज पर जंग लगने और इसके जर्जर होने की संभावना है.

पूरे देश में खुले आम गंदगी फैलाने वाले ऐसे लोगों को सबक सिखाया ही जाना चाहिए, इसके लिए जुर्माने से काम न चले तो कोई सज़ा भी निर्धारित की जानी चाहिए. है कि नहीं?