देश में लगातार COVID-19 के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. इस कठिन समय में बड़े-बड़े सेलेब्स से लेकर आम जनता तक, कोरोना से निपटने के लिये अपना सहयोग प्रदान कर रही है. हाल ही में प्रधानमंत्री ने आपातकालीन राहत के लिए एक फंड लॉन्च किया, जिसमें हर किसी ने अपनी ओर से छोटा बड़ा सहयोग देना शुरू किया.

हो सकता है कि आप भी अपनी तरफ़ से पीएम राहत कोष में कुछ राशि जमा कराने की सोच रहे हों. अगर ऐसा है तो थोड़ा सावधान, क्योंकि इसे लेकर पुलिस के पास कुछ जालसाज़ी के मामले सामने आये हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर यूज़र @bishwesh0604 ने दिल्ली पुलिस को इस जालसाज़ी के बारे में जानकारी दी. दरअसल, प्रधानमंत्री के अकाउंट में जाने वाले पैसे की आधिकारिक आईडी [email protected] है. वहीं धोखाधड़ी करने वाले लोगों ने इसमें से 'S' हटा कर फ़ेक आईडी बना दी.

इस छोटी सी ग़लती को नोटिस करना हर किसी ने उचित नहीं समझा होगा. पर @bishwesh0604 नामक ट्विटर यूज़र ने इस पर ध्यान दिया. इसके बाद बात दिल्ली पुलिस तक पहुंचाई. पुलिस ने लोगों को जागरूक करने के लिये इस बारे में ट्वीट कर जानकारी भी दी है. इसके साथ ही ये भी बताया कि लोगों को बेवकूफ़ बनाने वाले अज्ञात लोगों की जांच जारी है और फ़ेक UPI ID को ब्लॉक कर दिया गया.

PM
Source: thewirehindi

इसके अलावा @muglikar नामक यूज़र ने भी फ़र्ज़ी UPI ID के बारे में @TheOfficialSBI @NPCI_NPCI को जानकारी दी. बैंक द्वारा फ़र्ज़ी UPI ID को ब्लॉक कर दिया गया. साथ ही @muglikar को धन्यवाद भी कहा.

लोग सिर्फ़ पीएम राहत कोष में ही पैसे नहीं दे रहे, बल्कि राज्य सरकारों के राहत कोष में भी पैसे जमा कर रहे हैं. थोड़ा संभल कर जनाब, मदद करिये, लेकिन ध्यान भी रखिये कि पैसा सही जगह पहुंचे.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.