कोरोना वायरस के मामले महाराष्ट्र में बढ़ते जा रहे हैं. इसे देखते मुंबई समेत चार शहरों में 31 मार्च तक सभी ऑफ़िस बंद रहेंगे. शुक्रवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इसकी घोषणा की है. इसके साथ ही ज़रूरी दुकानों और सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें भी 31 मार्च तक बंद रहेंगी.

ndtv की रिपोर्ट के मुताबिक़, जिन चार शहरों में लॉकडाउन का फ़ैसला किया गया है, उनमें मुंबई, पुणे, पिंपरी, नागपुर और एमएमआर रीजन शामिल है. यहां जरूरी सामानों और सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें और दफ्तर 31 मार्च तक बंद रहेंगे. महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 52 मामले सामने आए हैं, जिसमें एक की मौत हो गई है.

Source: livemint

सीएम उद्धव ठाकरे ने नियोक्ताओं से कर्मचारियों की सैलरी न रोकने की अपील की है. उन्होंने कहा, ‘संकट आएंगे और जाएंगे लेकिन हमारी मानवता नहीं ख़त्म होनी चाहिए.’

साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बस और ट्रेन में भीड़ कम नहीं हुई तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बंद करना ‘आख़िरी रास्ता’ होगा. वहीं, सरकारी कार्यालय मुंबई में पूरी तरह बंद नहीं होंगे. यहां 25% उपस्थिति ही रहेगी.

लॉकडाउन के दौरान भी आवश्यक सेवाएं संचालित रहेंगी. राशन-सब्जी की दुकानें और दवाई की दुकानें खुली रहेंगी. हालांकि, सरकार ने कहा कि पैनिक बाईंग न करें. 31 मार्च तक गैर-जरूरी सामानों और शराब की दुकानें, माल समेत कई प्रतिष्ठान बंद रहेंगे.

Source: deccanherald

वहीं, गुरुवार को मुंबई के प्रतिष्ठित डब्बावालों ने अपनी टिफ़िन सेवा बंद कर दी ताकि राज्य में कोरोना वायरस को फ़ैलने से रोका जा सके.

राज्य के शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने ऐलान किया कि एक से आठवीं तक की परीक्षाएं नहीं होंगी.10वीं और 12वीं की परीक्षाएं होंगी, लेकिन 9वीं और 11वीं की परीक्षा को 15 अप्रैल तक टाल दिया गया है.