भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS)अधिकारी बनाना हर भारतीय का सपना होता है. सिविल सर्विसेज़ की परीक्षा भारत की सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक है. देश में हर साल लाखों युवा IAS और IPS अधिकारी बनने का सपना लेकर सिविल सर्विसेज़ की परीक्षा में बैठते है. इस कठिन परीक्षा को पास करने के लिए युवा सालों साल कड़ी मेहनत करते हैं, लेकिन परीक्षा में बैठे लाखों युवाओं में से किसी-किसी के सपने ही साकार हो पाते हैं. ये परीक्षा जितनी मुश्किल होती है एक IAS अधिकारी की नौकरी उतनी ही मुश्किल और चुनौतीपूर्ण भी होती है.

Source: indiatimes

आईये जानते हैं एक IAS अधिकारी को कितनी सैलरी मिलती है?

1- वर्तमान में एक प्रशासनिक अधिकारी (IAS) का शुरुआती वेतन 50,000 रुपये है, जो सेवा के वर्षों के आधार पर 1,50,000 तक बढ़ सकता है. इस दौरान जूनियर से लेकर सीनियर लेवल तक हर स्तर पर सैलरी का पैमाना अलग-अलग होता है.

2- सेलेक्शन ग्रेड, सुपर टाइम स्केल और सुपर टाइम स्केल से ऊपर के अधिकारियों का वेतन 1,00,000 रुपये से लेकर 2,00,000 रुपये के बीच होता है. 

3- सरकार द्वारा शीर्ष स्तर और कैबिनेट सचिव ग्रेड के अधिकारियों का वेतन 2,50,000 रुपये तय किया गया है. 

Source: pinterest

अन्य सुविधाएं: 

1- घर: प्रशासनिक अधिकारियों (IAS) को रहने के लिए सरकार की तरफ़ से बड़े-बड़े बंगले दिए जाते हैं. हालांकि, ये घर वेतनमान और वरिष्ठता के आधार पर ही मिलते हैं. इन घरों का साइज़ 'केंद्रीय लोक निर्माण विभाग' को ध्यान में रखते हुए तय किया जाता है.

2- ट्रांसपोर्ट: सरकार द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों को विशिष्ट रैंक के आधार पर वाहन की सुविधा भी दी जाती है. ग्रामीण क्षेत्रों में तैनात अधिकारियों को एम्बेस्डर कार, जबकि वरिष्ठ अधिकारियों को टोयोटा फॉर्च्यूनर या इनोवा जैसी लग्ज़री कारें मिलती हैं.

3- सुरक्षा: प्रत्येक प्रशासनिक अधिकारी को सरकार द्वारा उनके और परिवार की सुरक्षा के लिए 2 अंगरक्षक और 3 होमगार्ड दिए जाते हैं. सरकार द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों को किसी भी तरह की गन नहीं दी जाती है. अपनी सुरक्षा के लिए उन्हें सामान्य नागरिकों की तरह लाइसेंसी बंदूक या पिस्टल के लिए अप्लाई करना होता है.  

4- बिल: प्रत्येक प्रसाशनिक अधिकारी को मुफ़्त या अत्यधिक सब्सिडी वाली बिजली, पानी, गैस और फ़ोन के कनेक्शन भी मिलते हैं. 

5- अवकाश: सरकारी या गैर-आधिकारिक यात्राओं के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों को देश के किसी भी सरकारी गेस्ट हाउस या बंगलों में रियायती दाम पर आवास मिल जाते हैं. इसके अलावा वो राजधानी में अपने स्टेट भवन में रहने का लाभ उठा सकते हैं.

6- छुट्टियां: वो अधिकारी जिन्होंने 7 साल की सेवा पूरी कर ली है, वो इस का लाभ उठा सकते हैं और 2 साल की 'स्टडी लीव' भी ले सकते हैं. इस दौरान वो विदेशमें पढ़ाई के लिए भी जा सकते हैं. इस दौरान पढ़ाई का खर्चा सरकार उठाती है.  

7- पेंशन: देश के किसी भी सरकारी कर्मचारी की तरह ही प्रशासनिक अधिकारियों को भी सेवानिवृत्ति के बाद आजीवन पेंशन का लाभ मिलता है. 

Source: wikifolder

क्या काम करता है एक IAS ऑफ़िसर? 

1- सरकारी मामलों और बुनियादी ढांचे को संभालने का काम करते हैं.


2- किसी भी बड़ी आपदा, दंगा और दुर्घटनाओं के मामले में पहला आदेश डीएम का होता है.

3- सरकारी नीतियों को लागू करने, उन्हें चलाने और आम लोगों तक पहुंचाने का काम करते हैं.

4- किसी भी ज़िले के डीएम (IAS) को ये भी सुनिश्चित करना होता है कि ज़िले में धन की अनियमितता न हो.

5- सरकारी फंड का वितरण और आवंटन करना और सरकारी नीतियों को लागू करने के साथ ही बुनियादी ढांचे को बनाए रखने का काम करते हैं. 

Source: quora

बताइये आप में से कितने लोग इसके बारे में जानते थे?