अमेरिका में एक भारतीय मूल की लड़की को राष्ट्रपति ट्रंप ने सम्मानित किया है. 10 साल की इस बच्ची का नाम श्रव्या अन्नापारेड्डी है, इन्होंने कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की मदद करने में जुटे फ़्रंटलाइन वॉरियर्स को अपने हाथ से बने बिस्कुट और ग्रीटिंग कार्ड्स सेंड किए थे.

दरअसल, अमेरिका में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 14 लाख से भी अधिक हो गई है. इन मुश्किल हालातों में भी फ़्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स वहां पर लोगों की हर संभव मदद करने में जुटे हुए हैं. ऐसे ही कोरोना वॉरियर्स का हौसला बढ़ाने और उनका मुंह मीठा करने के लिए Girl Scouts Troop ने बिस्कुट और ग्रीटिंग कॉर्ड्स भेजे थे.

Donald Trump honors 10-year-old Indian-American girl
Source: youtube

ये ट्रूप Maryland के Hanover Hills Elementary School का है. इसमें श्रव्या अन्नापारेड्डी भी पढ़ती हैं. क्लास 4 की स्टूडेंट श्रव्या भी उन 10 स्काउट्स में से एक हैं जिन्हें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सम्मानित किया. फ़्रंटलाइन वॉरियर्स की मदद करने वाले हीरोज़ को सम्मानित करने के लिए आयोजित इस समारोह में उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप भी मौजूद थीं

Donald Trump honors 10-year-old Indian-American girl
Source: youtube

Washington Times की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस समारोह में शामिल डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- 'आज हम जिन पुरुषों और महिलाओं का सम्मान कर रहे हैं, वे हमें याद दिलाते हैं कि मुश्किल के समय हमें एकजुट करने वाले बॉन्ड(रिश्ते) की, ये दर्शाते हैं कि हम कठिन से कठिन समय में भी आगे बढ़ने और नईं ऊंचाइयों तक पहुंचने की क़ाबिलियत रखते हैं.’

Donald Trump honors 10-year-old Indian-American girl
Source: youtube

श्रव्या ने अपने दूसरों साथियों के साथ मिलकर डॉक्टर, नर्स और फ़ायरब्रिगेड में काम करने वाले लोगों को 100 बिस्कुट के पैकेट और 200 ग्रीटिंग कार्ड्स भेजे थे. ख़ास बात ये है कि इन सभी लड़कियों ने इन्हें अपने हाथों से तैयार किया था. श्रव्या के माता-पिता आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं. उनके साथ ही इस समारोह में नर्स Amy Ford को भी सम्मानित किया गया. वो कोरोना वायरस महामारी के दौरान न्यूयॉर्क और ब्रुकलिन के हॉस्पिटल्स में जाकर मरीज़ों की देखभाल करती थीं.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.