अमेरिका और मेक्सिको की सरहद पर चल रहे विवाद से पूरी दुनिया वाकिफ़ है. बच्चों को उनके माता-पिता से अलग करने से लेकर, बच्चों के लिए खाना-पानी, कंबल आदि की व्यवस्था न करने तक अमेरिका में रह रहे मेक्सिकन्स का पता लगाने के लिए अमेरिकी सरकार ने हर संभव प्रयास किया है.


कई शरणार्थी Rio Grande नदी से 'सुरक्षित' अमेरिकी ज़मीन तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसी ही एक शर्णार्थी की तस्वीर ने एक बार फिर अमेरिका और मेक्सिको के बीच चल रहे तनाव की ओर दुनिया का ध्यान खींचा है.

मेक्सिकन पत्रकार, Julia De Luc द्वारा खींची गई इस तस्वीर में बच्ची का हाथ उसके पिता के कंधे पर दिख रहा है.


रिपोर्ट्स के अनुसार, 25 वर्षीय Oscar Martinez Ramirez अपनी 21 वर्षीय पत्नी, Rosa Ramirez और 2 साल की बेटी के साथ रविवार को El Salvador से अमेरिका पहुंचने की कोशिश कर रहा था.

Ramirez ने अपनी बच्ची को नदी पार करते वक़्त अपनी पीठ पर रखा था. तेज़ बहाव में पिता और बेटी बह गए और उनकी लाश नदी के तट पर पहुंची.


दोनों का मृत शरीर सोमवार को Tamaulipas State के Matamoros में मिला.

Ramirez और उसकी बच्ची की तस्वीर आयलान कुर्दी की याद दिलाते हैं. सीरिया का ये रिफ़्यूजी बच्चा, 2015 में अपने परिवार के साथ यूरोप के लिए निकला था पर उनकी नाव लहर की चपेट में आ गई और कुछ घंटों बाद तुर्की के Bodrum शहर के तट पर उसका शरीर बहकर पहुंचा.

Source: Time

Ramirez और उसकी बेटी की इस तस्वीर को 'अमेरिका का आयलान कुर्दी क्षण' कहा जा रहा है.


अमेरिका की नई Immigration Policy के कारण अब तक कई शर्णार्थियों की मृत्यु हो चुकी है.