देशभर में जारी लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 रुपये जबकि डीज़ल पर 13 रुपये प्रति लीटर एक्साइज़ ड्यूटी बढ़ा दी है. हालांकि, इस बढ़ोतरी के बावजूद आम लोगों की जेब पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा. पेट्रोल पंप पर पेट्रोल के दाम पहले की तरह ही रहेंगे.  

Source: indiatoday

पेट्रोल-डीज़ल पर बढ़ी हुई एक्साइज़ ड्यूटी ऑयल मार्केटिंग कंपनियां वहन करेंगी, एक्साइज़ ड्यूटी की नई दरें मंगलवार रात से ही लागू हो गई हैं. 

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर व सीमा शुल्क बोर्ड की तरफ़ से जारी अधिसूचना के मुताबिक़, पेट्रोल व डीज़ल पर अतिरिक्त उत्पाद शुल्क के तौर पर 8 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की जा रही है. इसके अलावा विशेष अतिरिक्त उत्पाद शुल्क के रूप में पेट्रोल पर 2 रुपये और डीज़ल पर 5 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की जा रही है. 

Source: indiatvnews

केंद्र सरकार को उम्मीद है कि एक्साइज़ ड्यूटी में वृद्धि से उसके राजस्व में 1,75,000 करोड़ रुपये का इज़ाफ़ा होगा, जिसका इस्तेमाल विकास कार्यो में किया जाएगा. 25 मार्च, 2020 से जारी लॉकडाउन से पेट्रोल व डीज़ल की बिक्री में 70 फ़ीसदी तक की कमी आ चुकी है.  

बीते मंगलवार को केंद्र से पहले दिल्ली व पंजाब सरकार ने पेट्रोल-डीज़ल पर वैट बढ़ाने का फ़ैसला किया था. जिसके बाद दिल्ली में पेट्रोल पर वैट बढ़कर 16.44 रुपये प्रति लीटर, जबकि डीज़ल पर वैट 16.26 रुपये प्रति लीटर हो गया है. इसके साथ ही दिल्ली में अब पेट्रोल पर 27 के बजाए 30 फ़ीसदी जबकि डीज़ल पर 16.75 के बजाय 30 फ़ीसदी वैट लग रहा है. 

Source: zeenews

इंडियन ऑयल के मुताबिक़, दिल्ली में वैट बढ़ाए जाने से पेट्रोल 1.67 रुपये जबकि डीज़ल 7.10 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है. अब दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 69.59 रुपये से बढ़कर 71.26 रुपये प्रति लीटर हो गई. जबकि डीज़ल की कीमत 62.29 रुपये से बढ़कर 69.39 रुपये प्रति लीटर हो गई है. 

Source: ndtv

कोरोना संकट के कारण इस समय दुनियाभर में क्रूड ऑयल की कीमतों में गिरावट जारी है. इसी के चलते भारत में 50 दिन बाद अब जाकर पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में बदलाव किया गया है. भारत में पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में रोजाना के आधार पर बदलाव होता है. ये बदलाव विदेशी मुद्रा दर और क्रूड ऑयल की कीमतों के आधार पर होता है.