मानसून सीज़न: भारत में इन दिनों मानसून सीज़न चल रहा है. ऐसे में देश भर के कई इलाक़ों में भारी बारिश और बिजली गिरने से कई लोगों की मौत हो चुकी है. बारिश के इस मौसम में लोगों के लिए आकाशीय बिजली का गिरना मौत का कारण बन रहा है. 11 जुलाई 2021 को उत्तर भारत में भारी बारिश के बीच आकाशीय बिजली गिरने से क़रीब 50 लोगों की मौत हो गई थी. बिजली गिरने के वक़्त अक्सर लापरवाही जानलेवा साबित होती है. लेकिन थोड़ी सी सावधानी हमें मौत के मुंह में जाने से बचा सकती है.

ये भी पढ़ें- आग लगने की स्थिति में ये 10 Safety Tips अपनाकर आप अपनी और अपनों की जान बचा सकते हैं 

Source: scienceabc

आज हम आपके लिए आकाशीय बिजली के ख़तरे को भांपने का 30-30 का फ़ॉर्मूला लेकर आये हैं. प्राकृतिक हादसों पर नज़र रखने वाली साइट 'ऑल्टेक ग्लोबल' ने ऐसी ही तमाम सावधानियों के बारे में बताया है. तो चलिए जानते हैं बिजली गिरते वक्त क्या करना चाहिए और क्या नहीं! 

Source: gajabdunia

अगर आप आकाशीय बिजली गिरते वक़्त घर से बाहर हैं तो 30-30 का ये फ़ॉर्मूला आपकी जान बचा सकता है- 

1- अगर आपके इलाक़े में बिजली चमके तो तुरंत सेकेंड के हिसाब से 30 तक गिनती शुरू कर दें. अगर 30 सेकेंड के भीतर बिजली की गड़गड़ाहट सुनाई दे तो समझ लीजिए ये बड़ा ख़तरा है. ऐसे में आप कोई सुरक्षित स्थान ढूंढ लें.  

2- बिजली चमकने के बाद और गरजने तक के बीच सेकेंड गिनकर उसे 3 से भाग दें तो पता चल जाएगा कि आपके इलाक़े से कितनी दूर बिजली गिरी है.

3- अगर आप मौसम का अनुमान नहीं लगा पा रहे हैं तो मोबाइल पर Weather Alert का ध्यान ज़रूर रखें और उसका अनुपालन ठीक तरह से करें. 

Source: woodlandtree

ये भी पढ़ें- सुनामी से जुड़ी इन 30 सेफ़्टी टिप्स को अपनाकर आप ख़ुद की और अपने परिवार की जान बचा सकते हैं

4- बिजली गिरते वक़्त अगर आप घर से बाहर हैं तो किसी इमारत में शरण लें. अगर आस-पास इमारत नहीं है तो वाहन या फिर किसी कठोर परत वाली जगह पर चले जाएं.  

5- बिजली कड़कते वक़्त भूलकर भी पेड़ के नीचे न खड़े हों, ऐसे मौसम में पेड़ बिलकुल भी सुरक्षित नहीं होते हैं, क्योंकि वो बिजली को अपनी ओर खींचते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि बिजली ज़मीन तक पहुंचने के लिए सबसे छोटा और आसान रास्ता लेती है. पेड़ों की ऊंचाई बिजली को वो रास्ता देती है.

6- बिजली के ऊंचे टावर से दूर ही रहें. अगर आस-पास केवल पेड़ हैं तो खुले मैदान में ही कहीं झुककर बैठ जाना ही सबसे बेहतर है. 

Source: scienceabc

ये भी पढ़ें- क्या Food Safety से जुड़े इन 15 फ़ैक्ट्स के बारे में जानते हैं आप?

7- इस दौरान रेडियो, टोस्टर जैसे किसी बिजली से चलने वाले सामान से दूर रहें. बिजली चमकने से पहले ही इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को प्लग से हटा दें.  

8- बिजली चमकने के दौरान आग की जगहों, रेडियटर्स, स्टोव, किसी भी धातु के उपकरणों, सिंक और फ़ोन का बिलकुल भी इस्तेमाल न करें. 

9- बिजली चमकने के दौरान खिड़कियों, दरवाजे और बरामदा में भी न जाएं. घर में धातु के किसी पाइप को भी न छुएं. हाथ धोने या शॉवर का उपयोग भी न करें. ऐसे वक़्त में बर्तन या कपड़े धोने का जोखिम भी न मोल लें.

Source: hindutvanewslive

10- इस दौरान अगर किसी पानी वाली जगह में हैं तो तुरंत बाहर निकल जाएं. नाव, स्विमिंग पूल, झील, नदी आदि पर सवार हैं तो वहां से तुरंत निकल जाएं.  

11- वज्रपात जानवरों के लिए भी ठीक नहीं है, पेड़ के नीचे बारिश से बचने के लिए खड़े जानवरों पर अक्सर बिजली जानलेवा साबित होती है. 

12- इस दौरान हवा में झूलते तार अक्सर आकाशीय बिजली के संपर्क में आने का कारण बन सकते हैं. ऐसे में घरों के इलेक्ट्रिक उपकरणों के साथ इमारत को भी ख़तरा रहता है. 

Source: navbharattimes

अगर ज़्यादा देर तक बिजली कड़कती है तो स्थानीय राहत एवं बचाव एजेंसी से संपर्क साध सकते हैं. अगर बिजली चली भी जाए तो भी इलेक्ट्रिक उपकरणों या स्विच को न छुएं.