IAS Officer Training: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा, भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है. हर साल देश भर से लाखों परीक्षार्थी UPSC की CSE परीक्षा में शामिल होते हैं, पर काफ़ी कम परीक्षार्थी इसे क्लियर कर पाते हैं. बायजूस के अनुसार UPSC की परीक्षा देने वाले कुल परीक्षार्थीयों के महज 0.2% परीक्षार्थी इसे क्लियर करने में सफल होते हैं. सफल कैंडिडेट्स की रैंक और दूसरे अन्य तत्वों से ये तय होता है कि किसे कौन-सा कैडर मिलेगा.

UPSC IAS IPS IFS Training
Source: theprint

कैडर मिल जाने के बाद इन कैंडिडेट्स को कड़ी ट्रेनिंग से गुज़रना पड़ता है, लेकिन क्या आपको पता है कि IAS, IPS और IFS अफ़सरों की ट्रेनिंग कहां और कैसे होती है? और उन्हें ट्रेनिंग में क्या-क्या सिखाया जाता है? यदि आपको इन सवालों का जवाब नहीं पता है तो, कोई बात नहीं. इस आर्टिकल में हम आपको IAS Officer Training के बारे में बताने जा रहे हैं.

IAS Officer Training in Hindi 

फ़ाउंडेशन कोर्स - Foundation Course  

LBSNAA
Source: indianmasterminds

UPSC CSE क्लियर करने वाले सभी कैंडिडेट्स की ट्रेनिंग की शुरुआत मसूरी (उत्तराखंड) स्थित 'लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन' (LBSNAA) में फ़ाउंडेशन कोर्स से होती हैं, जिसमें IAS ऑफ़िसर ट्रेनी के अलावा IPS और IFS आदि ऑफ़िसर ट्रेनी भी शामिल होते हैं. लगभग 3 महीने के इस फ़ाउंडेशन कोर्स में सभी को एक अधिकारी की ज़िम्मेदारीयों को निभाने के लिए ज़रूरी एडमिनिस्ट्रेटिव स्किल्स सिखाए जाते हैं.

LBSNAA foundation course
Source: lbsnaa

फ़ाउंडेशन कोर्स पूरा होने के बाद IAS ऑफ़िसर कैंडिडेट के अलावा बाकी सभी ट्रेनीज़ (Officers Trainee) को मिले उपयुक्त कैडर के अनुसार ट्रेनिंग एकेडमी भेजा जाता है.

ये भी पढ़ें: क्लासमेट की ग़लती से गई थी प्रांजल की आंखों की रौशनी, आज बनीं देश की पहली नेत्रहीन IAS ऑफ़िसर

1. IAS ऑफ़िसर की ट्रेनिंग कहां होती है - Where Does IAS Training Take Place In Hindi

IAS TRAINING
Source: indiatoday

Indian Administrative Services याने IAS Officer Training मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन में होती है. फ़ाउंडेशन कोर्स के बाद IAS ऑफ़िसर ट्रेनी की प्रोफेशनल ट्रेनिंग शुरू होती है, जिसमें प्रशासन और गवर्नेंस के हर सेक्टर की ज़रूरी जानकारी दी जाती है.

IAS Officer Training
Source: facebook

IAS ऑफ़िसर्स की ट्रेनिंग कहां होती है: इसके बाद IAS ऑफ़िसर ट्रेनी का 'Winter Study Tour' होता है, जो 'भारत दर्शन' के नाम से मशहूर है. इस दौरान IAS ट्रेनी को भारत की विविधता को जानने-समझने का अवसर मिलता है. इस दौरान सभी IAS ट्रेनी को भारत की किसी एक भाषा को सीखने का मौका मिलता है.

2. IPS ऑफ़िसर की ट्रेनिंग कहां होती है - Where Does IPS Training Take Place In Hindi

SVP National Police Academy
Source: facebook

IPS की ट्रेनिंग कहां होती है: LBSNAA से फ़ाउंडेशन कोर्स पूरा होने के बाद IPS (Indian Police Service) कैंडिडेट को अगली ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस एकेडमी (SVPNPA) भेजा जाता है. हैदराबाद में IPS की ट्रेनिंग दो चरणों में होती हैं. पहला चरण सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस एकेडमी से शुरू होता है, जिसमें IPS ऑफ़िसर ट्रेनी को ज़रूरी स्किल्स, जानकारी और कर्तव्यों के बारें में सिखाया जाता है.

Where Does IPS Training Take Place In Hindi
Source: greattelangaana

IPS Training In Hindi: दूसरे चरण में आवंटित राज्य कैडर के बारे में जानकारी और वहां की समस्याओं के बारे में समझाया जाता है. साथ ही प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दी जाती है, जिसमें पुलिस थानों में क़ानूनी मामलों से निपटने की जिम्मेदारी IPS ऑफ़िसर ट्रेनी को दी जाती है. इस दौरान सभी IPS ऑफ़िसर ट्रेनी को भारत की किसी एक भाषा को सीखने का मौका मिलता है.

ये भी पढ़ें: 102 बुखार और 16 की उम्र में खोई सुनने की शक्ति, फिर भी हार नहीं मानी और बनीं IAS

3. IFS ऑफ़िसर की ट्रेनिंग कहां होती हैं - Where Does IFS Training Take Place In Hindi

IFS Training
Source: ssifs.mea

IFS ऑफ़िसर्स की ट्रेनिंग कहां होती है: LBSNAA से फ़ाउंडेशन कोर्स पूरा करने के बाद IFS (Indian Foreign Service) ऑफ़िसर ट्रेनी को अगली इंडक्शन ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए सुषमा स्वराज इंस्टीट्यूट ऑफ़ फ़ॉरेन सर्विस (SSIFS), नई दिल्ली भेजा जाता है. यहां IFS ऑफ़िसर ट्रेनी को राजनयिक (Diplomat) की जिम्मेदारियों और चुनौतियों का सामना करने के लिए आवश्यक ज्ञान और कौशल सिखाया जाता है.

IFS officer with PM
Source: eliteias

IFS Training In Hindi: इंडक्शन ट्रेनिंग प्रोग्राम के बाद, IFS ऑफ़िसर ट्रेनी को मंत्रालय के कामकाज से परिचित कराने के उद्देश्य से 2 महीने के लिए मंत्रालय के डिवीज़न में नियुक्त किया जाता है. इसके बाद IFS ऑफ़िसर ट्रेनी को किसी एक विदेशी भाषा को सीखने का मौका मिलता है.

IAS Officer Training: ट्रेनिंग के बाद इन IAS, IPS और IFS अफ़सरों के हाथों में भारत के विकास कार्यों की बागडोर सौंपी जाती है.