रविवार को कर्नाटक के एक स्कूल में सैंकड़ों बच्चे सफ़ेद शर्ट और भगवा धोती पहने बाबरी मस्जिद की पोस्टर तोड़ने की प्रैक्टिस कर रहे थे.

Source: The News Minutes

6 दिसंबर, 1992 को बाबरी मस्जिद को ढाहा गया था, अयोध्या मामले पर हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने इसे ग़ैर-क़ानूनी घटना बताया था, कई लोगों के ऊपर ढांचे को गिराने के आरोप में केस चल रहा है.

एक ट्विट से सामने आए इस वीडियो में दावा किया गया है कि रविवार को 11वीं और 12वीं के बच्चे एक स्कूल के कार्यक्रम में बाबरी मस्जीद तोड़ने की प्रेक्टिस कर रहे थे, पीछे लाउडस्पीकर पर उदघोषक जय श्री राम, भारत माता की जय, जय हनुमान के नारे लगाए.

यह कार्यक्रम कर्नाटक के Kalladka ज़िला में स्थित श्री राम विद्याकेंद्र हाई स्कूल में आयोजित किया गया था. इसमें केंद्रिय मंत्री डी. वी. सदानंद गौड़ा और पॉन्डिचेरी की राज्यपाल किरण बेदी और राज्य के कई मंत्री मेहमान के रूप में उपस्थित थे.

ये सबकुछ नाटक के रूप में किया गया और मस्जिद के पोस्टर को गिराने के बाद वहां राम मंदिर बनाने की बात भी कही गई.