केविन मिटनिक (Kevin Mitnick) इस नाम से शायद ही कोई वाक़िफ़ होगा. लेकिन जब आप गूगल पर 'दुनिया का सबसे बड़ा हैकर कौन है' सर्च करेंगे तो केविन का नाम सबसे ऊपर होगा. हैकिंग की दुनिया में केविन मिटनिक का नाम ही काफ़ी है. 'ब्लैक हैट हैकर' के नाम से मशहूर केविन मिटनिक दुनिया का सबसे शातिर हैकर है.

Kevin Mitnick
Source: twitter

कौन है 'केविन मिटनिक? 

केविन मिटनिक का जन्म 6 अगस्त 1963 में अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया में हुआ था. केविन को बचपन से ही हैकिंग का शौक था. 12 साल की उम्र में उसने सोशल इंजीनियरिंग के ज़रिए लॉस एंजेलिस की बसों में फ़्री में सफ़र करना शुरू कर दिया था. 80 के दशक में केविन ने दुनिया की कई बड़ी कंपनियों के सीक्रेट्स हैक कर लिए थे. वो बड़ी आसानी से किसी भी सीक्रेट प्रोजेक्ट को हैक कर लेता था. 90 के दशक तक वो अमेरिका का 'मोस्ट वांटेड साइबर क्रिमिनल' बन चुका था.

Source: smartup

ये भी पढ़ें- कैसे दुनिया बढ़ रही है तीसरे विश्व युद्ध की तरफ़, Anonymous हैकर ग्रुप ने किया है एक आंकलन

90 के दशक में केविन मिटनिक नोकिया,आईबीएम, मोटोरोला जैसी कई बड़ी कंपनी के सर्वर को भी हैक कर चुका है. लेकिन आज कई देशों की सरकारें केविन को हर महीने 'साइबर हैकिंग' से बचने के लिए करोड़ों रुपये देती हैं. इतना ही नहीं गूगल, अमेज़न, याहू जैसी बड़ी कंपनियां भी 'साइबर हैकिंग' से बचने के लिए केविन को हर महीने करोड़ों रुपये देती हैं. 

Source: phishprotection

केविन, अमेरिकन डिफ़ेंस ऑर्गनाइज़ेशन 'Pentagon' की साइट भी हैक कर चुका है. केविन को अमेरिका के 'नेशनल सिक्योरिटी एलर्ट प्रोग्राम' में सेंध लगाने और 'कॉरपोरेट सीक्रेट्स' चुराने का आरोप में 3 साल की सजा हुई थी. इसके बाद उसे फिर से 'साइबर क्राइम' के जुर्म में ढाई साल के लिए जेल भेज दिया गया था.

Source: phishprotection

इसके अलावा भी ग़ैर-क़ानूनी हैकिंग के कारण केविन मिटनिक कई बार जेल भी जा चुका है. ये शातिर हैकर कुल मिला कर 6 साल जेल की सज़ा काट चुका है. केबिन इतना शातिर था कि वो एक बार जेल से भाग भी चुका है. केविन की ज़िंदगी पर दो हॉलीवुड फ़िल्में भी बन चुकी हैं. 

Source: wsj

साल 2000 में केविन मिटनिक ने ख़ुद को बदलने का फ़ैसला किया. वो आज एक सफ़ल आईटी कंसल्टेंट बन चुका है. इसके अलावा वो पब्लिक स्पीकर और सक्सेसफ़ुल राइटर भी हैं. केविन आज दुनिया के टॉप फ़ॉर्च्युन 500 कंपनियों के लिए सुरक्षा परामर्श प्रदान करता है. दुनिया की कई बड़ी कंपनियों को 'साइबर सिक्योरिटी' पर टिप्स देने लगा है. 

केविन मिकनिक इन दिनों अमेरिका में ख़ुद की 'साइबर सिक्योरिटी' कंपनी चला रहा है. अमेरिकन गवर्नमेंट हर साल 'साइबर सिक्योरिटी' के लिए केविन को अरबों रुपये देती है.