List of Indian Inventions And Discoveries: भारत हमेशा से आविष्कारों की धरती रहा है. चाहे वो शून्य का आविष्कार हो या फिर दशमलव का. भारतीय वैज्ञानिकों ने प्राचीनकाल से दुनिया को कुछ न कुछ दिया है. लेकिन संसाधनों के अभाव में देश के कई होनहार वैज्ञानिक दुनिया को अपना टैलेंट दिखाने से चूक गये. बावजूद इसके हम भारतीय आज दुनिया से बहुत पीछे नहीं हैं. 21वीं सदी भारतीयों की सदी कही जाय तो इसमें कोई हैरानी नहीं होगी. आज भारतीय टैलेंट पूरी दुनिया पर राज कर रहा है. दुनिया के बेस्ट इंजीनियर्स, डॉक्टर्स, साइंटिस्ट भारतीय ही साबित हो रहे हैं. नासा के साइंटिस्ट से लेकर गूगल और माइक्रोसॉफ़्ट इंजीनियर्स और दुनिया के मशहूर हॉस्पिटलों में बेस्ट डॉक्टर्स भी भारतीय ही हैं. भारत में ऐसे कई वैज्ञानिक हुये हैं जिनके बारे में हमें जानकारी ही नहीं है. लेकिन पश्चिमी देशों में उनके टैलेंट को सर आंखों पर बिठाया जाता है. आज हम आपको भारतीयों द्वारा किये गये उन अविष्कारों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके बारे में कम ही लोग जानते होंगे.

ये भी पढ़ें: सत्येंद्र नाथ बोस: भारत का वो महान वैज्ञानिक जिसे क़ाबिलियत के अनुरूप देश में नहीं मिला सम्मान

आज हम यहां भारत के उन्हीं टेलेंटेड लोगों का ज़िक्र करने जा रहे हैं जिन्होंने दुनिया भर में देश का नाम रौशन किया है-

1- Zero and Decimal 

शून्य और दशमलव (Zero and Decimal) का आविष्कार भारत में हुआ था. महान भारतीय गणितज्ञ आर्यभट्ट (Aryabhata) ने शून्य और दशमलव की खोज की थी. जबकि ब्रह्मगुप्त (Brahmagupta) ने उनके इस काम को आगे बढ़ाया था.

aryabhatta and brahmagupta
Source: myindiamyglory

2- Water On The Moon

भारत के 'चंद्रयान -1' मिशन द्वारा नासा के 'मून मिनरलॉजी मैपर इंस्ट्रूमेंट' का इस्तेमाल करके पहली बार ऑर्बिट से चांद (Moon) पर पानी होने का पता लगाया गया था. इस दौरान भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो (ISRO) के Chandrayaan 1 ने पहली बार पता लगाया था कि चांद (Moon) सिर्फ़ एक टीला भर नहीं, बल्कि यहां पानी भी उपलब्ध है. 

List of Indian Inventions And Discoveries

3- Fiber Optics 

भारत के डॉ. नरिंदर सिंह कपानी (Narinder Singh Kapany) को फ़ाइबर ऑपटिक्स (Fiber Optics) का जनक कहा जाता है. फ़ॉर्च्यून पत्रिका द्वारा 7 'अनसंग हीरोज़' में से एक के रूप में नामित डॉ. सिंह को 'फ़ाइबर ऑप्टिक टेक्नोलॉजी' के लिए कॉमर्शियल एप्लिकेशन डेवलेप करने में उनके अग्रणी कार्य हेतु 'Father of Fibre Optics' के रूप में जाना जाता है.

 Fiber Optics
Source: thelogicalindian

4- Plastic Roads

दुनिया में पहली बार साल 2001 में प्लास्टिक की सड़कों का निर्माण डॉ. राजगोपालन वासुदेवन द्वारा विकसित किया गया था. साल 2006 में उन्होंने इसका पेटेंट भी कराया था. इस ख़ास किस्म की सड़क को बनाने में गर्म बजरी के ऊपर कटा हुआ प्लास्टिक कचरा छिड़कना, प्लास्टिक की पतली परतों में पत्थरों का लेप करना और फिर प्लास्टिक में लिपटे पत्थरों को नियमित रूप से पिघला हुआ टार और जोड़ना सड़क बिछाना होता है.

Plastic Roads by Dr. Rajagopalan Vasudevan
Source: scroll

List of Indian Inventions And Discoveries

6- Pseudomonas Putida 

भारतीय आविष्कारक और माइक्रोबाइलॉजिस्ट आनंद मोहन चक्रवर्ती ने कच्चे तेल को तोड़ने के लिए विभिन्न प्रकार के मानव निर्मित सूक्ष्मजीवों का निर्माण किया था. उन्होंने सन 1971 में आनुवंशिक रूप से स्यूडोमोनास बैक्टीरिया (तेल खाने वाले बैक्टीरिया) की एक नई किस्म की खोज की थी. अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने Diamond v. Chakrabarty केस में फ़ैसला सुनाते हुये चक्रवर्ती के इस आविष्कार को पेटेंट की मंजूरी दी भी थी. आनंद मोहन चक्रवर्ती ने सन 1980 में इसका पेटेंट भी किया था. 

Pseudomonas Putida
Source: twitter

7- Synthetic Genes And Decoding of Protein Synthesizing Gene

भारतीय-अमेरिकी बायोकेमिस्ट हर गोबिंद खोरोना ने पहला सिंथेटिक जीन बनाया और खुलासा किया कि कैसे डीएनए का आनुवंशिक कोड प्रोटीन संश्लेषण को निर्धारित करता है, जो यह निर्धारित करता है कि एक सेल कैसे कार्य करता है. इस खोज ने हर गोबिंद खोरोना को सन 1968 में फिजियोलॉजी या मेडिसिन में 'नोबेल पुरस्कार' दिलाया था.  

Synthetic Genes And Decoding of Protein Synthesizing Gene
Source: whatisbiotechnology

ये भी पढ़ें: भारतीय गणितज्ञ द्वारा खोजे गए '6174' को आख़िर मैजिकल नंबर क्यों कहा जाता है?

8- Intel Pentium Processor

भारत के विनोद धाम को साल 1993 में इंटेल कंपनी में इंजीनियरों के एक ग्रुप का नेतृत्व करते हुए इंटेल पेंटियम प्रोसेसर (Intel Pentium Processor) विकसित का श्रेय जाता है. कंप्यूटर को संचालित करने के लिए पहला माइक्रोप्रोसेसर का श्रेय भी इंटेल को ही जाता है.

Intel Pentium Processor
Source: realtor

List of Indian Inventions And Discoveries

9- Microwave Communication 

ट्रांसमिशन का पहला सार्वजनिक प्रदर्शन भारतीय वैज्ञानिक जगदीश चंद्र बसु द्वारा सन 1895 में कलकत्ता में किया गया था. बसु ने ये आविष्कार मार्कोनी के आविष्कार से 2 साल पहले ही कर दिया था. लेकिन संसाधनों के अभाव में बसु इसका पेटेंट नहीं करा सके और मार्कोनी को 1909 में वायरलेस टेलीग्राफ़ी के लिए नोबेल पुरस्कार मिला. आज बसु का ये क्रांतिकारी आविष्कार मोबाइल टेलीफ़ोनी, रडार, उपग्रह संचार, रेडियो, टेलीविजन प्रसारण, वाईफ़ाई, रिमोट कंट्रोल और अनगिनत अन्य अनुप्रयोगों में इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक की नींव है. 

Microwave Communication

9- Paper Microscope

स्टैनफ़ोर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक मनु प्रकाश ने एक पेपर माइक्रोस्कोप बनाया, जिसे फ़ोल्डस्कोप (Foldscope) भी कहा जाता है. इसे कागज की एक ही शीट पर मुद्रित किया जा सकता है और आकार में मोड़कर इस्तेमाल किया जा सकता है. 

Paper Microscope

List of Indian Inventions And Discoveries

10- Bottle Cap Filter 

भारत के निरंजन कारगी नाम के एक लड़के ने बॉटल कैप फ़िल्टर ( Bottle Cap Filter) का आविष्कार किया है. निरंजन ने नैनो-कम्पोज़िट तकनीक का उपयोग करके एक छोटी बोतल कैप फ़िल्टर बनाया जो दूषित पानी को 99.9% साफ़ करता है. निरंजन ने अपने इस प्रोडक्ट का पेटेंट भी करवाया है.

Bottle Cap Filter

अगर आप भी जानते हैं किसी ऐसे भारतीय का नाम तो हमारे साथ शेयर ज़रुर करें.