COVID-19 वैक्सीन को लेकर तैयारियां अपने अंतिम चरण में है. ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार ने वैक्सीन को रखने के लिए बुनियादी ढ़ांचे की व्यवस्था शुरू कर दी है. इसके तहत वैक्सीन को जिस ख़ास आइस लाइन रेफ्रिजरेटर में रखा जाएगा, वो लखनऊ पहुंच चुके हैं.

Source: aajtak

लखनऊ में 4 विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए रेफ्रिजरेटर (ILR) आए हैं, जिनमें प्रत्येक की क्षमता 225 लीटर है. फ़्रिज ऐशबाग़ कोल्ड स्टोरेज सेंटर में पहुंच गए हैं, अब यहां से इन्हें COVID-19 वैक्सीन के लिए समर्पित स्टोरेज यूनिक में इकट्ठा किया जाएगा.

Source: knocksense

बताया जा रहा है कि सबसे पहले वैक्सीन मेडिकल स्टाफ़ और फ्रंटलाइन वर्करों को दी जाएगी. अधिकारियों ने लिस्ट बनानी शुरू कर दी है, इसमें फ़िलहाल 14,000 के क़रीब नगर निगम कर्मचारी और लगभग 20,000 पुलिसकर्मी शामिल हैं, जिनमें ट्रैफ़िक पुलिस कर्मी और होमगार्ड भी हैं.

बेहद कम तापमान पर स्टोर की जाती है वैक्सीन

Source: yahoo

'कोरोना वैक्सीन' को स्टोर करने के लिए बेहद कम तापमान की ज़रूरत होती है. इसे 2 से 8 डिग्री के तापमान के बीच रखा जाएगा. लखनऊ के अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एमके सिंह ने बताया कि एक रेफ्रिजरेटर की क्षमता 225 लीटर वैक्सीन स्टोर करने की है. यानी 4 रेफ्रिजरेटर में कुल मिलाकर एक समय पर 900 लीटर वैक्सीन रखी जा सकेगी.

बता दें, पहले चरण में जहां मेडिकल स्टाफ़ और फ्रंटलाइन वर्करों को वैक्सीन लगाई जाएगी. वहीं, दूसरे चरण में 50 साल से ऊपर के बुज़ुर्ग लोगों का टीकाकरण होगा.