मालेरकोटला शहर के मुसलमानों ने शुक्रवार को स्वर्ण मंदिर के सामुदायिक रसोईघर, गुरु राम दास लंगर को 330 क्विंटल गेहूं दान किया.

अनाज लाने वाले प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सिख-मुस्लिम सांझा मंच के अध्यक्ष नासिर अख्तर कर रहे थे. उन्होंने दरबार साहिब में श्रद्धा सुमन अर्पित किए और अकाल तख्त जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह से भी मुलाकात की. उन्होंने सामुदायिक रसोई में लंगर बनाने में हांथ भी बंटाया.

Source: gonewsindia

गेहूं दान करने के लिए स्वर्ण मंदिर के मुख्य प्रबंधक, मुख्तियार सिंह और अतिरिक्त प्रबंधक, राजिंदर सिंह रूबी ने प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को सिरोपा पहना कर सम्मानित किया. नासिर अख्तर, अनवर खान, शब्बीर खान, मोहम्मद अर्पण, मोहम्मद लियाकत, सदाक अली और मोहम्मद हनीफ के साथ थे और उन्होंने कहा, 'सिखों और मुसलमानों के बीच सहयोग गुरुओं के समय से चला आ रहा है. अब उसे बढ़ाये जाने की सख़्त ज़रूरत है.'

Source: Times Now

ज़रूरतमंद लोगों के लिए सामुदायिक रसोई में दी जा रही सेवाओं की सराहना करते हुए उन्होंने कहा, 'लोगों की जाति, धर्म , रंग और पंथ के आधार पर भेदभाव किये बिना यहां सभी को मुफ़्त खाना दिया जाता है. ये गुरु दरबार की महानता है.'

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (SGPC) के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगेवाल ने प्रतिनिधिमंडल को उनके इस काम के लिए धन्यवाद देते हुए कहा, 'मालेरकोटला के मुस्लिम समुदाय ने एक दुर्लभ उदाहरण पेश किया है और इस तरह के प्रयास सांप्रदायिक सद्भाव को बढ़ावा देते हैं.'