Rajiv Gandhi Assassination: साल 1991 तारीख़ 21 मई. ये तारीख़ हम भारतीयों के लिए काले दिन की तरह है. वजह है इस दिन हम सबके प्रिय प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या. पूर्व पीएम जो एक आदर्श बेटे और आदर्श पीएम भी थे, उनकी इसी दिन तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में एक बम धमाके में हत्या कर दी गई थी. ये एक सोची समझी साजिश थी जिसे कई लोगों ने अंज़ाम दिया था, इसके पीछे LTTE (Liberation Tigers Of Tamil Eelam) का हाथ था.

Rajiv Gandhi Assassination
Source: Scroll

राजीव गांधी की हत्या के दोषी 7 लोगों को टाडा कोर्ट ने फ़ांसी की सज़ा दी थी. इन्हीं में से एक हैं नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan). दूसरे दोषियों की तरह इनकी भी सज़ा को आजीवन कारावास में बदल दिया गया था. ये जेल में सबसे लंबे अरसे तक रहने वाली महिला कैदी भी हैं. इस केस में सज़ा पाने के बाद भी इनका जीवन विवादों से घिरा रहा है. चलिए जानते हैं इसके बारे में...

ये भी पढ़ें: जेल में हुआ था राजीव गांधी का नामकरण, नाम के साथ जुड़ी है दिलचस्प कहानी 

कौन है नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan)

India’s longest-serving woman convict
Source: freepressjournal

नलिनी श्रीहरन तमिलनाडु के एक पूर्व पुलिस इंस्पेक्टर पी. शंकर नारायणन की बेटी है. उनकी मां एक नर्स थीं. नलिनी ने Ethiraj College से अंग्रेज़ी भाषा और साहित्य में स्नातक किया है. जब वो 24 साल की थी तब उसे राजीव गांधी के हत्यारों की मदद करने का दोषी पाया गया और गिरफ़्तार किया गया. 

ये भी पढ़ें:  क्या था 'ऑपरेशन चेकमेट', जो राजीव गांधी की हत्या का असल कारण बना? 

सिर्फ़ 3 बार जेल से बाहर आई

Rajiv Gandhi killer Nalini Sriharan
Source: deccanherald

31 साल की जेल में नलिनी सिर्फ़ 3 बार पैरोल पर बाहर आई है. एक बार अपने पिता की मौत पर, दूसरी बार अपनी बेटी की शादी में और तीसरी बार दिसंबर 2021 में मां की तबीयत खराब होने पर.   

2019 में मर्सी किलिंग की दी थी अर्जी

nalini sriharan is alive
Source: theweek

नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan) ने 2019 में पीएम मोदी और तमिलनाडु हाईकोर्ट को चिट्ठी लिखी थी. इसमें उसने मर्सी किलिंग यानी दया हत्या की मांग की थी.   

जेल में दी ख़ुदकुशी करने की धमकी

nalini sriharan
Source: thenewsminute

2020 में नलिनी ने वेल्लोर जेल में रहते हुए ख़ुदकुशी करने की धमकी दी थी. जब ये मामला मीडिया में आया तो पता चला कि जेल में एक और महिला कैदी है जिसे उम्रकैद की सज़ा हुई है. उसे नलिनी की जेल में रखा गया है. उसने शिकायत की थी कि नलिनी उसका उत्पीड़न करती है इसलिए उसे दूसरी जेल में भेज दिया जाए. जब ऐसा किया जा रहा था तो नलिनी ने ख़ुद को मारने की धमकी दी थी. 

छप चुकी है इनकी जीवनी  

nalini sriharan autobiography
Source: deccanherald

नलिनी की जीवनी भी छप चुकी है. इनकी बायोग्राफ़ी एक पत्रकार एकलाइवन ने लिखी है. इस बुक में नलिनी ने अपने बचपन, शादी, बेटी गिरफ़्तारी, सज़ा सबके बारे में बताया है. इस किताब मे नलिनी ने कहा कि न उसे और न ही उसके पति श्रीहरन को पता था कि राजीव गांधी की हत्या होने वाली है. इस बुक में उसने राजीव गांधी की बेटी प्रियंका गांधी से 2008 में जेल में मुलाकात करने की बात भी कही है. 

फिर से बेल की याचिका डाली है  

नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan)
Source: Deccan Chronicle

कुछ समय पहले राजीव गांधी के हत्या के दोषी एजी पेरारीवलन को जेल से रिहा किया गया है. उसे सुप्रीम कोर्ट ने अपने विशेषाधिकार का इस्तेमाल करते हुए रिहा किया. उसकी रिहाई के बाद नलिनी ने भी कोर्ट में बेल पर बाहर आने की अर्जी डाली है. उसकी मां को उम्मीद है कि वो भी पेरारीवलन की तरह जेल से रिहा हो जाएगी.