अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर काम तेज़ी से चल रहा है. इस बीच सरकार भी अयोध्या के सौंदर्यीकरण और उसे भारत की धार्मिक पर्यटक स्थल बनाने में भी कोई कमी नहीं छोड़ रही है.  

ram mandir
Source: ndtv

देखिए, अयोध्या को भारत का सबसे बड़ा पर्यटक स्थल बनाने के लिए सरकार क्या-क्या कर रही है. 

- अयोध्या में एक Ropeway बनेगा जैसे आप किसी पहाड़ी इलाक़े में अनुभव करते हैं ठीक वैसा ही मगर ज़्यादा क्षमता के साथ. इस प्रोजेक्ट पर लगभग 1,200 करोड़ ख़र्च हो रहे हैं. यह आपको एयरपोर्ट, बस अड्डा और रेलवे स्टेशन से सीधा राम मंदिर को जोड़ेगा. यानि इस हवाई मार्ग के ज़रिए आप 10 से 15 मिनट में मंदिर पहुंच सकते हैं.  

- पर्यटकों को सरयू नदी पर 'रामायण क्रूज़ टूर' का अनुभव मिलेगा. ये अयोध्या की पहली लक्ज़री क्रूज़ सर्विस होगी जिसका लोग आनंद उठा सकेंगे. 

- अयोध्या में इस साल के अंत तक भगवान राम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भी बन जाएगा. एक रिपोर्ट के अनुसार, योगी सरकार ने इसके निर्माण के लिए 525 करोड़ रुपये लगाए हैं.  

ayodhya railway station
Source: curlytales

- मात्र हवाई अड्डा ही नहीं रेलवे स्टेशन को भी नए अवतार के लिए तैयार किया जाएगा. ख़बरों के अनुसार, रेलवे को मंदिर के जैसा ही रूप देने की कोशिश की जाएगा. स्टेशन के लिए अनुमानित लागत 80 करोड़ निर्धारित की गई है. 

- इतना ही नहीं सरकार अयोध्या को हाई-स्पीड बुलेट ट्रेन की भी सौगात दे सकती है. यह ट्रेन उतार प्रदेश के मुख्य और आध्यात्मिक जगहों को एक साथ जोड़ेगी.  

ayodhya
Source: timesnowhindi

आप को बता दें, की भारत भर के लोगों ने राम मंदिर के निर्माण के लिए लगभग 100 करोड़ का दान दिया है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष, चंपत राय ने बताया कि जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र को लगभग 100 करोड़ का दान मिला है, "डेटा अब तक मुख्यालय में नहीं पहुंचा है लेकिन हमें अपने कार्यकर्ताओं से एक रिपोर्ट मिली है कि उन्हें इस नेक काम के लिए लगभग 100 करोड़ का दान मिला है. " 

मंदिर के लिए राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद 5,01,100 रुपये का योगदान दिया है. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी मंदिर के निर्माण के लिए 1 लाख रुपये दान दिए हैं.  

सफ़ाई के मामले में भारत के सबसे साफ़ शहर, इंदौर के Indian Institute of Indore (IIM-I) से अयोध्या नगर निगम मदद लेने वाला है. साफ़-सफाई को ध्यान में रखते हुए अयोध्या इंदौर का मॉडल अपनाएगा.