बीते रविवार को मध्य प्रदेश में 'विज़ुअली इम्पेयर्ड' बच्चों के लिए पहला स्मार्ट क्लासरूम खुल गया है. Free Press Journal के एक लेख के अनुसार, इंदौर के परदेशीपुरा में ये क्लासरूम खुला है. एक सरकारी स्कूल में सांसद शंकर लालवानी ने 'एनी स्मार्ट क्लासरूम' का उद्घाटन किया.

एनी दुनिया की पहली ब्रैल लिटरेसी डिवाइस है और ये विज़ुअली इम्पेयर्ड छात्रों को पढ़ने, लिखने और ब्रैल में टाइप करने में सहायता करती है.  अब इस बेहतरीन डिवाइस के ज़रिए हर विज़ुअली इम्पेयर्ड बच्चे को पढ़ने लिखने का मौका मिलेगा.

Source: Free Press Journal

एनी एक सेल्फ़-लर्निंग डिवाइस है जो नेत्रहीन छात्रों को शिक्षित होने में सहायता करती है. इस डिवाइस के ज़रिए छात्र अंग्रेज़ी के शब्द, अन्य भाषाओं के शब्द सीख सकते हैं. इस डिवाइस के ज़रिए छात्रों की संख्या का ज्ञान भी बढ़ता है.

Source: Thinker Bells

इस बेहतरीन डिवाइस को बेंगलुरू के एक स्टार्टअप ने बनाया है. भारत के 8 नेत्रहीन स्कूलों में एनी का इस्तेमाल किया जा रहा है. ये अंग्रेज़ी, हिन्दी, कन्नड़, मराठी और तेलुगू में उपलब्ध है और जल्द ही ये तमिल और मलायलम में भी उपलब्ध होगी.   

इस डिवाइस के ज़रिए विज़ुअली इम्पेयर्ड छात्रों को भी बाकी छात्रों की तरह ही शिक्षित होने का मौक़ा मिलेगा.