जम्मू-कश्मीर सरकार ने शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा पर रोक लगा दी है. सेना द्वारा आतंकी ख़तरे का ख़ुलासा होने के बाद राज्य सरकार ने अमरनाथ यात्रा पर गए तीर्थयात्रियों को जल्द से जल्द राज्य छोड़ने का आदेश दे दिए हैं.

Threat on Amarnath Pilgrims
Source: news18

जम्मू-कश्मीर के गृह विभाग द्वारा जारी आदेश में सरकार ने इस फ़ैसले के पीछे आतंकी हमले की खुफ़िया जानकारी का हवाला दिया है.

सरकारी आदेश में कहा गया है कि 'सेना को मिली ख़ुफ़िया जानकारी के आधार पर घाटी में बड़े आतंकी हमले की संभावना है. इसलिए जम्मू-कश्मीर आये सभी पर्यटकों और अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें जल्द से जल्द राज्य छोड़ने के आदेश दिए हैं.

Indian Army in jammu and kashmir

सेना ने सभी पर्यटकों और अमरनाथ यात्रियों को जम्मू-कश्मीर से सुरक्षित निकालने का काम भी शुरू कर दिया है.

एक दिन पहले सेना ने कहा था कि उन्हें ख़ुफ़िया जानकारी मिली है कि पाकिस्तान अमरनाथ यात्रा में मुश्किल पैदा करने की योजना बना रहा है.

'चिनार कॉर्प्स कमांडर' लेफ़्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि, पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान कश्मीर घाटी में शांति भंग करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन उन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

Indian Army in jammu and kashmir
Source: indiatoday

केजेएस ढिल्लों ने साथ ही कहा कि, जिस प्रकार की IED की हम जांच कर रहे हैं इसके एक्सपर्ट आतंकवादियों की हम पिछले कुछ दिनों से तलाश कर रहे हैं. हम कश्मीर की आवाम को आश्वस्त करना चाहते हैं कि शांति भंग करने वालों को बिलकुल भी बख़्शा नहीं जायेगा.