मथुरा सांसद हेमा मालिनी ने कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर बयान दिया है. 

रिपोर्ट्स के मुताबिक़, हेमा मालिनी का कहना है कि किसान अपने आप सड़क पर नहीं बैठे, वो किसी के कहने पर ऐसा कर रहे हैं. किसानों को पता नहीं है उन्हें क्या चाहिए और उन्हें ये भी नहीं पता कि नये एक्ट्स में क्या ग़लत है.  

हेमा मालिनी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाए गए स्टे का स्वागत किया और कहा कि इससे शायद थोड़ा मामला शांत हो.  

किसानों के द्वारा पंजाब में किए गए नुक]सान, टावर तोड़ने वाली हरकत पर सांसद और बॉलीवुड अभिनेत्री ने दुख भी जताया. हेमा का कहना था कि किसानों को उनकी सरकार बात-चीत के लिए बुला रही है लेकिन किसानों के पास कोई मुद्दा ही नहीं है.  

Source: Wikipedia

सासंद ने बृज क्षेत्र के किसानों द्वारा कोई शिकायत न करने पर ख़ुशी भी जताई. उन्होंने ये भी कहा कि बृज के किसान बिल से ख़ुश हैं.