भारत में शादी यानि की शो-ऑफ़. जितना ज़्यादा शादी में तड़क-भड़क, उतने ज़्यादा चर्चे. चाहे वो किसी भी प्रांत के, किसी भी तबके की शादी हो.


कपड़े, गहने, खाने के अलावा शादी का अभिन्न हिस्सा बन गई है, सेल्फ़ी.

Source: Deccan Chronicle

पर मध्य प्रदेश में एक अलग ट्रेन्ड सामने आया है. यहां दूल्हे शादी से पहले 'टॉयलेट सेल्फ़ी' ले रहे हैं.


रिपोर्ट्स के मुताबिक़, मध्य प्रदेश सरकार ने आर्थिक रूप से कमज़ोर लड़कियों के लिए मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह स्कीम निकाली है. इस स्कीम के तहत जो लड़कियां ये साबित करती हैं कि उनके होने वाले पति के घर में टॉयलेट है, तो उन्हें 51000 रुपये मिलते हैं.

स्वच्छ भारत स्कीम के तहत सरकार की ये कोशिश है कि हर इंसान के घर में टॉयलेट हो और लोग खुले में शौच न करें. सरकार हर घर जाकर ये चेक नहीं कर सकती है इसीलिए ये सेल्फ़ी वाला तरीका ढूंढा गया है.


कुछ दूल्हों को ये तरीका बहुत अजीब लगा, तो कुछ ने इसके पीछे की अच्छी सोच की सराहना की.

Source: DNA

2013 से ही मध्य प्रदेश में शादी के लिए दूल्हे के घर टॉयलेट होना अनिवार्य है, पर अब टॉयलेट सेल्फ़ी को इस स्कीम में जोड़ा गया है. News18 की रिपोर्ट के मुताबिक़ टॉयलेट वाली तस्वीर मैरिज सर्टिफ़िकेट में भी लगेगी.