कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर मातम जैसा माहौल था, वो नाच-गाने वाले वीडियो जो अपलोड नहीं हो रहे थे. मद्रास हाई कोर्ट ने Tik-Tok एप को बैन जो कर दिया था.

कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर मातम जैसा माहौल था, वो नाच-गाने वाले वीडियो जो अपलोड नहीं हो रहे थे. मद्रास हाई कोर्ट ने Tik-Tok एप को बैन जो कर दिया था.

बैन की वजह थी Tik-Tok पर अश्लील वीडियो सामग्रियों का मौजूद होना. कोर्ट के आदेश पर केंद्र सरकार ने इस पर तत्काल प्रभाव से बैन लगा दिया था, जिसकी वजह से Apple और Google Play Store ने भी इसे अपने प्लेटफ़ॉर्म से उतार दिया था.

TikTok का स्वामित्व रखने वाले Bytedance ने कहा है कि वो अपनी ओर से अश्लील वीडियोज़ को बढ़ावा नहीं देती है, साथ ही अपने भारतीय उपभोक्ताओं के लिए वो अपने सुरक्षा उपकरणों को मज़बूत करने के लिए प्रतिबद्ध है.

जैसे ही कोर्ट ने TikTok को बैन मुक़्त किया, सोशल मीडिया पर खुशी की लहर दौड़ी और पीछे Memes की धूल उड़ी.

The Indian Express ने TikTok के प्रवक्ता से बातचीत की जिसमें उसने कोर्ट के फ़ैसले का स्वागत करते हुए कहा, 'अपने उपभोक्ताओं को सेवा का मौका देने के लिए हम आभारी हैं.'