‘शहर हमसे हम इस शहर से आज़ाद हैं.

ये दौर हम दोनों की ख़ुदगर्ज़ी का है.’

शहर को इंसान की बनाई सबसे बेहतरीन संरचना कहा जा सकता है. इन शहरों को बनने में सदियां लगी हैं और ये शहर भी सदियों की कहानी ख़ुद में समेटे हैं. इन शहरों के हर मोड़ पर क़दम ठहरे हैं, मानो पैर रखते ही कोई चीख देगा. रुकना तो इसने सीखा ही नहीं था. ख़ैर ठहराव के लिए ये बना भी नहीं था. मगर चाहे-अनचाहे ये शहर आज थम गए हैं. सरकार ने इन्हें 21 दिन ख़ुद के साथ गुज़ारने के लिए दिए हैं. आप इसे लॉकडाउन कह सकते हैं.

दरअसल, Mumbai Live ने Aerial Shots के ज़रिए मुंबई शहर को कैमरे में क़ैद कर लिया है. समय से भी तेज़ लगने वाले इस शहर में फ़िलहाल न तो डबल डेकर बस दौड़ रही है और न ही काली-पीली टैक्सी फ़र्राटे भर रही हैं. ऐसे में मुंबई खुल के सांस ले रहा है. हमारे लिए बना ये शहर हमारे बिना कितना ख़ूबसूरत लगता है, उसे आप इन तस्वीरों के ज़रिए देख सकते हैं.

Source: mumbailive
Source: mumbailive
Source: mumbailive
Source: mumbailive

तो... बताइए हमें शहर के इस नज़ारे पर आप क्या सोचते हैं?