मुर्गी पहले आई या फिर अंडा? ये सवाल सदियों से हर किसी को परेशान करता आ रहा है. आज तक कोई भी इसका सही से जवाब नहीं दे पाया है. इस अनसुलझी गुत्थी का हल निकालने के लिए वैज्ञानिकों ने कई प्रयास किये, लेकिन सफ़लता नहीं मिली. वैज्ञानिकों ने अब इस विश्व प्रसिद्ध सवाल का जवाब ढूंढ निकाला है. इस बार वैज्ञानिकों ने इसका जवाब पूरे तर्क के साथ पेश किया है.

ये भी पढ़ें- पहले अंडा आया या मुर्गी पर बहस करने वालों, क्या लगता है अंडा वेजिटेरियन है या नॉन-वेजिटेरियन?

Source: science

मुर्गी पहले आई या फिर अंडा? What came first chicken or egg?

दरअसल, ब्रिटेन की 'शेफ़ील्ड एंड वारविक यूनिवर्सिटी' के प्रोफ़ेसर्स ने मिलकर इस विषय पर एक शोध किया है. इस दौरान लंबे समय तक चली रिसर्च के बाद आख़िरकार वैज्ञानिकों की टीम को 'पहले मुर्गी आई या फिर अंडा?' (What Came First Hen Or Egg?) सवाल का सही जवाब मिल ही गया है.

Source: chickens

'मुर्गी' में मिलता है ये ख़ास प्रोटीन

रिसर्च के मुताबिक़, दुनिया में सबसे पहले 'मुर्गी (Hen) आई थी. ऐसा इसलिए क्योंकि अंडे (Egg) के खोल में 'ओवोक्लाइडिन' नाम का एक प्रोटीन पाया जाता है. इस प्रोटीन के बिना अंडे का निर्माण होना नामुमकिन है और क्योंकि ये प्रोटीन सिर्फ़ और सिर्फ़ मुर्गी के गर्भाशय में बनता है. पहले मुर्गी आई तब उसके गर्भाशय में 'ओवोक्लाइडिन' बना और फिर ये प्रोटीन 'अंडे' की खोल में पहुंचा.

Source: livescience

डेली एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक़, इस रिसर्च में ये नहीं बताया गया कि प्रोटीन पैदा करने वाली 'मुर्गी' दुनिया में पहले कैसे आईं? इस दौरान रिसर्च टीम ने 'अंडे' के खोल को देखने के लिए अत्याधुनिक कंप्यूटर 'हेक्टर' का इस्तेमाल किया था.

Source: mashable

रिसर्च के हेड वैज्ञानिक डॉ. कोलिन फ़्रीमैन ने कहा, 'लंबे समय से ये संदेह बना हुआ था कि अंडा पहले आया, लेकिन अब हमारे पास वैज्ञानिक सबूत है जो हमें बताता है कि इस दुनिया में 'मुर्गी' पहले आई थी'.

वैज्ञानिकों की इस रिसर्च से ये तो पता चल चुका है कि इस दुनिया में 'मुर्गी' पहले आई थी, लेकिन जो 'मुर्गी' इस दुनिया में आई थी उसका जन्म कैसे हुआ था? इसका जवाब वैज्ञानिकों के भी पास नहीं है. ये आज भी एक अनसुलझी पहेली है.

Source: mashable

'मुर्गी' इस दुनिया में कैसे आई? इसका जवाब तो सिर्फ़ उपरवाले के पास ही होगा, क्योंकि सृष्टि का निर्माण करने वाले तो भगवान ही थे.

ये भी पढ़ें- आख़िर क्यों इतना महंगा मिलता है 'कड़कनाथ मुर्गा', जानिए क्या है इसकी ख़ासियत